दैनिक भास्कर हिंदी: टीम इंडिया के हेड कोच बने रहेंगे रवि शास्त्री, CAC ने लिया फैसला

August 17th, 2019

हाईलाइट

  • भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच का ऐलान कर दिया गया है
  • रवि शास्त्री को दोबारा हेड कोच की जिम्मेदारी सौंपी गई है
  • नए कोच का कार्यकाल 2021 में होने वाले टी-20 विश्व कप तक का होगा

डिजिटल डेस्क, मुंबई। भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच का ऐलान कर दिया गया है। रवि शास्त्री को दोबारा हेड कोच की जिम्मेदारी सौंपी गई है। कपिल देव की अगुवाई वाली क्रिकेट एडवाइजरी काउंसिल (CAC) को भारतीय टीम का नया कोच चुना है। कपिल के अलावा इस एडवाइजरी काउंसिल में पूर्व ओपनर अंशुमान गायकवाड़ और महिला क्रिकेट टीम की पूर्व कप्तान शांता रंगास्वामी शामिल थी। मुंबई स्थित भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) के हेडक्वार्टर में सुबह साढ़े 10 बजे से हेड कोच के इंटरव्यू चल रहे थे। 

कपिल देव ने कहा कि हेड कोच का चयन कोचिंग स्किल्स, एक्सपीरियंस, नॉलेज और टीम के साथ कम्युनिकेशन के मानकों को ध्यान में रखते हुए किया गया। बीसीसीआई के एक अधिकारी ने बताया कि नए कोच का कार्यकाल 2021 में होने वाले टी-20 विश्व कप तक का होगा। इसके बाद एक बार फिर कोच को चुनने की प्रक्रिया शुरू होगी। सपोर्ट स्टाफ को भी 2021 टी-20 विश्व कप तक का करार सौंपा जाएगा क्योंकि जब बड़े टूर्नामेंट्स की बात आती है तो निरंतरता जरूरी होती है। 

क्रिकेट एडवाइजरी काउंसिल को 6 शॉर्ट लिस्ट उम्मीदवारों का इंटरव्यू लेना था, लेकिन वेस्टइंडीज के पूर्व ऑलराउंडर और अफगानिस्तान के कोच फिल सिमंस ने अपना नाम वापस ले लिया। वर्तमान कोच रवि शास्त्री वेस्टइंडीज दौरे पर हैं, ऐसे में उन्होंने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए इंटरव्यू दिया। शास्त्री के अलावा ऑस्ट्रेलियन टीम के पूर्व ऑलराउंडर और श्रीलंका के कोच टॉम मूडी ने भी स्काइप पर इंटरव्यू दिया। न्यूजीलैंड के पूर्व कोच माइक हेसन, भारतीय टीम के पूर्व टीम मैनेजर लालचंद राजपूत और पूर्व फील्डिंग कोच रॉबिन सिंह मुंबई में सीएसी के सामने पहुंचे इंटरव्यू देने पहुंचे थे।

ऐसा पहले से ही माना जा रहा था कि, वर्तमान कोच शास्त्री का कार्यकाल आगे बढ़ सकता है। वेस्टइंडीज दौरे के लिए रवाना होने से पहले कप्तान विराट कोहली ने कहा था कि, टीम शास्त्री के साथ खुश है और वह शास्त्री के पक्ष में हैं। हालांकि, विश्व कप के सेमीफाइनल में मिली न्यूजीलैंड से हार के बाद शास्त्री को कड़ी आलोचना का सामना करना पड़ा था। शास्त्री, बॉलिंग कोच भरत अरुण, बैटिंग कोच संजय बांगर और फील्डिंग कोच आर श्रीधर सहित मौजूदा सपोर्ट स्टाफ को वर्ल्ड कप के बाद 45 दिन का एक्सटेंशन दिया गया था।

भारत 2016 में टी 20 विश्व कप और 2015 और 2019 में एकदिवसीय विश्व कप जीतने में विफल रहा, लेकिन शास्त्री-कोहली की जोड़ी ने ऑस्ट्रेलिया में ऐतिहासिक श्रृंखला जीत के साथ देश को टेस्ट रैंकिंग में शीर्ष पर पहुंचने में मदद की। शास्त्री जून 2016 तक टीम डायरेक्टर थे। अनिल कुंबले के जाने के बाद 2017 में उन्हें भारत के मुख्य कोच के रूप में नियुक्त किया गया था।