comScore

क्रिकेट: कभी सहवाग के लिए गांगुली ने छोड़ी थी ओपनिंग, अब कोहली भी राहुल के लिए छोड़ेंगे तीसरा स्थान

क्रिकेट: कभी सहवाग के लिए गांगुली ने छोड़ी थी ओपनिंग, अब कोहली भी राहुल के लिए छोड़ेंगे तीसरा स्थान

हाईलाइट

  • विराट कोहली ने चौथे नंबर पर बल्लेबाजी करने के संकेत दिए
  • सौरव गागुंली ने सहवाग को बनाया था ओपनिंग बल्लेबाज
  • दुनिया के सफल ओपनर बल्लेबाजों में गिने जाते हैं सहवाग

डिजिटल डेस्क, मुंबई। भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने पूर्व कप्तान सौरव गांगुली की तरह ही टीम हित में बल्लेबाजी क्रम में अपना स्थान छोड़ने के संकेत दिए हैं। कोहली ने सकेंत दिए हैं कि वे मध्यक्रम को मजबूत करेंगे और तीसरे की जगह चौथे नंबर पर बल्लेबाजी करेंगे। कोहली ने सोमवार को प्रेस वार्ता में कहा कि रोहित शर्मा, शिखर धवन और लोकेश राहुल मंगलवार से ऑस्ट्रेलिया के साथ शुरू होने वाली वनडे सीरीज में एक साथ खेल सकते हैं। 

कोहली से यह पूछे जाने पर कि जब ये तीनों खेलेंगे तो आप किस नंबर पर बल्लेबाजी करेंगे, क्योंकि कोहली नंबर-3 पर बल्लेबाजी करते हैं। इसके जवाब में कोहली ने कहा कि, मैं निचले क्रम में बल्लेबाजी करना पसंद करूंगा। मैं उस नंबर पर अधिकार नहीं जमाना चाहता, जिस पर मैं खेलता हूं। मैं इस बात को लेकर असहज नहीं हूं कि मैं किस नंबर पर खेलूंगा। कप्तान होने के नाते, यह सुनिश्वित करना मेरा काम है कि अगला नंबर भी तैयार रहे।

गांगुली ने सहवाग को बनाया था ओपनर बल्लेबाज 
गौरतलब है कि सौरव गांगुली ने भी टीम इंडिया के कप्तान रहते हुए मिडिल ऑर्डर बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग को ओपनिंग कराई थी। जिस वक्त गांगुली ने सहवाग को ओपनर बनाने का फैसला किया था, उस वक्त वे खुद सचिन के साथ ओपनिंग करते थे। अपनी जगह सहवाग को ओपनिंग कराने का उनका फैसला सही भी साबित हुआ। सहवाग ने अपने करियर में 251 वनडे मैच और 104 टेस्ट मैच खेले। टेस्ट में सहवाग के नाम 23 शतक और 32 अर्धशतक हैं, जबकि वनडे क्रिकेट में उनके नाम पर 15 शतक और 38 अर्धशतक दर्ज हैं। टेस्ट में उनके नाम 8586 रन हैं तो वहीं वनडे में 8273 रन बनाए। यही नहीं ओपनर के तौर पर सहवाग ने दो तीहरे शतक भी लगाए हैं।

बेहतरीन फार्म में हैं रोहित, धवन और राहुल 
कोहली ने मैच की पूर्व संध्या पर संवाददाताओं से कहा कि, खिलाड़ी का फॉर्म में होना टीम के लिए हमेशा अच्छी बात है। निश्चित तौर पर आप हमेशा यह चाहते हैं टीम के लिए सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी उपलब्ध हों और आप भी उस सर्वश्रेष्ठ में से टीम संयोजन बनाएं। यहां इस बात की संभावना है कि ये सभी तीनों (रोहित, शिखर और राहुल) खेल सकते हैं। यह देखना दिलचस्प होगा कि हम मैदान पर किस संयोजन के साथ उतरेंगे। रोहित ने पिछले साल तीनों प्रारूपों में 2442 रन बनाए थे। वहीं, टी-20 में राहुल का औसत 44.17 जबकि धवन का 28-35 रहा है। 34 वर्षीय धवन ने चोट के बाद वापसी करते हुए श्रीलंका के खिलाफ टी-20 में 32 और 52 रन बनाए हैं।
 

कमेंट करें
VUCWf