comScore

क्रिकेट: युवराज बोले- धोनी और कोहली ने नहीं दिया गांगुली जितना साथ

क्रिकेट: युवराज बोले- धोनी और कोहली ने नहीं दिया गांगुली जितना साथ

हाईलाइट

  • युवराज ने कहा कि, मुझे धोनी और कोहली की तुलना में सौरव से बहुत ज्यादा सपोर्ट मिला
  • युवराज ने 2000 में चैंपियंस ट्रॉफी में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ गांगुली की कप्तानी में डेब्यू किया था

डिजिटल डेस्क। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व ऑलराउंडर युवराज सिंह ने कहा कि, मुझे एमएस धोनी और विराट कोहली की तुलना में सौरव गांगुली से बहुत ज्यादा सपोर्ट मिला है। युवराज ने 2000 में चैंपियंस ट्रॉफी में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ गांगुली की कप्तानी में डेब्यू किया था और अपने 17 साल के लंबे करियर में अलग-अलग समय में राहुल द्रविड़, वीरेंद्र सहवाग, गौतम गंभीर, धोनी और कोहली की कप्तानी में भी खेले हैं।

38 साल के युवराज ने स्पोर्टस्टार को दिए इंटरव्यू में कहा, मैं सौरव की कप्तानी में खेला और मुझे उनसे बहुत सपोर्ट मिला। उसके बाद माही ने टीम की कप्तानी संभाली। मुझे सौरव और माही के बीच किसी एक को चुनना मुश्किल है। लेकिन सौरव के समय की मेरे पास ज्यादा यादें हैं, क्योंकि उन्होंने मुझे सबसे ज्यादा सपोर्ट किया है। मुझे वैसा सपोर्ट माही और कोहली से नहीं मिला। युवराज हालांकि धोनी की कप्तानी में 2011 वर्ल्ड कप के 'प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट' रहे थे।  

यह खबर भी पढ़ें - कोरोनावायरस: BCCI अधिकारी ने कहा, टी-20 वर्ल्ड कप स्थगित होने पर अक्टूबर-नवंबर के बीच हो सकता है IPL

युवराज ने गांगुली की कप्तानी में 110 वनडे मैच खेले
पूर्व भारतीय ऑलराउंडर युवराज ने 304 वनडे मैच खेले हैं। जिसमें से उन्होंने गांगुली की कप्तानी में 110 और धोनी के नेतृत्व में 104 मैच खेले। बाएं हाथ के खिलाड़ी का मानना ​​है कि, मौजूदा भारतीय टीम को एक "अच्छे कोच" की आवश्यकता है, जो खिलाड़ियों से उनके ऑफ-फील्ड मुद्दों के बारे में बात कर सके ताकि मैदान पर उनका प्रदर्शन बेहतर हो सके।

यह खबर भी पढ़ें - Coronavirus: रोहित शर्मा ने दी 80 लाख रुपये की सहायता राशि, बोले- हमें देश को वापस पैरों पर लाना होगा

टीम को पैडी अप्टन जैसे किसी की जरूरत
पिछले साल संन्यास ले चुके युवराज ने कहा कि, विराट कोहली की अगुवाई वाली टीम को पैडी अप्टन जैसे किसी की जरूरत है, जो खिलाड़ियों से जीवन और अन्य ऑफ-फील्ड मुद्दों पर बात कर सके। अप्टन ने गैरी कर्स्टन के कार्यकाल के दौरान भारतीय क्रिकेट टीम के मानसिक स्वास्थ्य और कंडीशनिंग कोच के रूप में काम किया था।

कमेंट करें
G2NIQ