comScore

Tips: पढ़ाई में नहीं लग रहा है बच्चे का मन, तो अपनाएं ये उपाय

Tips: पढ़ाई में नहीं लग रहा है बच्चे का मन, तो अपनाएं ये उपाय

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। बच्चों की पढ़ाई को लेकर मां- बाप हमेशा चिंतित रहते हैं। वहीं बच्चे खेल कूद और अन्य कार्यों में ज्यादा ध्यान देते हैं। फिलहाल कोरोनावायरस के चलते अधिकांश स्कूल नहीं खुले हैं। वहीं कई स्कूलों द्वारा ऑनलाइन क्लासेस दी जा रही हैं। ऐसे में पैरेंट्स की पेरशानी अभी भी वही है। क्योंकि हर माता- पिता चाहते हैं कि उनका बच्चा पढ़ाई में अव्वल रहे ताकि उसका भविष्य उज्जवल हो सके। वहीं बच्चे भी कई बार पढ़ाई की कोशिश करते हैं, लेकिन अधिक समय तक उनका मन पढ़ाई में नहीं रहता। 

बच्चों का पढ़ाई में मन लगा रहे, इसको लेकर मां- बाप कई सारे कदम उठाते हैं। कभी कोचिंग का सहारा, कभी उन्हें लालच देना तो कई बार दवाओं का सहारा भी लिया जाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं इसका कारण वास्तु दोष भी हो सकता है। यदि आपके बच्चे के साथ भी ऐसा ही है तो हम आपको बताने जा रहे हैं कुछ आसान उपाय, जिनको करने से घर के वातावरण में परिवर्तन आएगा और आपके बच्चे का पढ़ाई में भी मन लगने लगेगा... 

क्या आपके घर में होती है कलह? या हमेशा कोई रहता है बीमार तो हो सकता है ये कारण

करें ये उपाय:-
बच्चे की पढ़ाई के लिए हमेशा उत्तर दिशा का चुनाव करें।
उत्तर- पूर्व में पढ़ाई करने वाली मेज पर श्री गणेश, सरस्वती या अपने इष्ट देव की तस्वीर लगाएं।
पढ़ने बैठने से पूर्व लगाई गई तस्वीर को प्रणाम करें, यह लाभकारी होता है।
उत्तर दिशा में मेज रखने पर बच्चे कॅरियर पर सबसे ज्यादा ध्यान देते हैं।

क्यों लगाई जाती है मंदिर में परिक्रमा, जानिए हिन्दू शास्त्रों में क्या है नियम

वास्तु के हिसाब से ध्यान और शांति की दृष्टि से पूर्व, उत्तर या उत्तर- पूर्व दिशा शुभ मानी गई है। 
उत्तर दिशा में सकारात्मक ऊर्जाओं का प्रभाव भी सबसे अधिक होता है।
पढ़ाई के लिए कमरे में पुस्तकों की छोटी और हल्की रैक या अलमारी पूर्व या उत्तर दिशा में होनी चाहिए। 
अध्ययन कक्ष में शौचालय न हो तो अच्छा है, लेकिन यदि है तो उसका दरवाजा हमेशा बंद रखना चाहिए।

कमेंट करें
0CIj8