दैनिक भास्कर हिंदी: पद्मावती के बाद अब गेम ऑफ अयोध्या पर होगा घमासान, निर्देशक को हाथ काटने मिली धमकी

July 2nd, 2018

डिजिटल डेस्क, मुंबई। संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती को लेकर चल रहा विरोध अभी खत्म भी नहीं हुआ था कि अब फिल्म 'गेम ऑफ अयोध्या' पर विवाद शुरू हो गया है। विद्यार्थी परिषद से जुड़े छात्र नेता ने फिल्म निर्देशक पूर्व एमएलसी व लोकदल के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुनील सिंह के दोनों हाथ काटने पर एक लाख रुपये इनाम देने की घोषणा की है। छात्र नेता अमित गोस्वामी ने कहा है कि यह फिल्म भगवान श्रीराम के प्रति आस्था रखने वाले लोगों की भावनाओं पर कुठाराघात है। 

बता दें कि यह फिल्म आठ दिसंबर को फिल्म रिलीज होनी है। छात्र नेता ने धमकी दी है कि उस दिन होने वाली किसी घटना के लिए शासन व प्रशासन जिम्मेदार होगा। इतना ही नहीं अमित गोस्वामी ने कहा कि वह खुद निर्देशक सुनील सिंह को गोली मार देंगे। फिल्म दर्शाती है कि अयोध्या में श्रीराम की प्रतिमा धोखे से स्थापित की गई थी। निर्देशक सुनील सिंह ने पब्लिसिटी पाने के लिए इस तरह की फिल्म बनाई है। यह सहन नहीं किया जाएगा। 

सिनेमाघरों में लगा देंगे आग

छात्र नेता ने दर्शकों से भी अपील करते हुए कहा कि अगर वे इस फिल्म को देखने जाते हैं तो अपनी जिम्मेदारी पर जाएं। इस फिल्म के विरोध में सिनेमाघरों में आग भी लगाई जा सकती है। सुनील सिंह एक शिक्षा माफिया हैं, प्रशासन को उन पर कार्रवाई करनी चाहिए। प्रदेश व केंद्र सरकार को भी चाहिए कि इस फिल्म पर बैन लगाना चाहिए। बता दें कि इस फिल्म में पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह के अयोध्या पर उस समय दिए गए भाषणों के कुछ अंश भी शामिल किए गए हैं।

 

वहीं निर्देशक सुनील सिंह का भी भंसाली की तरह ही जवाब सामने आया है कि फिल्म को देखने से पहले किसी तरह की राय न बनाएं। इस फिल्म में उन नेताओं की हकीकत दिखाई गई है, जो मस्जिद तोड़कर व विरोध कर नेता बने गए। हिंदू तो मैं भी हूं, भगवान राम से हम भी प्रेम करते हैं। उन्होंने कहा कि "मैं चार-पांच दिसंबर को अलीगढ़ आऊंगा। सबसे पहले एएमयू से जुड़े प्रोफेसरों को फिल्म दिखाऊंगा।" इतना ही नहीं सुनील सिंह ने कहा कि "अगर अमित गोस्वामी को उनका हाथ काटना ही है तो कम से कम हाथ की सही कीमत तो लगाते।"

 

बता दें कि हिंदू युवा वाहिनी ने 'द गेम ऑफ अयोध्या' फिल्म के विरोध में कल गृहमंत्री को संबोधित ज्ञापन जिलाधिकारी को सौंपा। हिंदू युवा वाहिनी जिला अध्यक्ष अमित शर्मा ने कहा कि द गेम ऑफ अयोध्या फिल्म में कार सेवकों व पूर्व सीएम राजस्थान के राज्यपाल कल्याण सिंह की भूमिका को गलत तरीके से पेश किया गया है। धर्मसमाज महाविद्यालय पर समाजवादी छात्र सभा ने 'द गेम ऑफ अयोध्या' फिल्म के निर्देशक सुनील सिंह का पुतला दहन भी किया है। 

फिल्म प्रमाणन अपीलीय ट्रिब्यूनल ने दी मंजूरी


फिल्म की रिलीज पर सेंसर बोर्ड ने रोक लगाई थी लेकिन इसे फिल्म प्रमाणन अपीलीय ट्रिब्यूनल ने मंजूरी दे दी है। बता दें कि यह फिल्म बाबरी मस्जिद कांड की पृष्ठभूमि पर बनाई गई है। फिल्म में हिंदू-मुस्लिम की प्रेम कहानी दिखाई गई है। अलीगढ़ जिले के एसएसपी राजेश पाण्डेय ने बताया कि उत्तर प्रदेश पुलिस ने पहले से ही फिल्म रिलीज के दौरान जिले में हाई अलर्ट जारी कर दिया है। फिल्म 'गेम ऑफ अयोध्या' लिब्रहान कमीशन की रिपोर्ट पर आधारित है।