comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

अजय देवगन बनेंगे सैयद अब्दुल रहीम, बताएंगे भारतीय फुटबॉल की महान कहानी

July 14th, 2018 13:53 IST

डिजिटल डेस्क, मुंबई। बॉलीवुड में इन दिनों बायोपिक की बहार आई हुई है। हर एक बड़ा स्टार और फिल्ममेकर गुजरे दौर के किस्सों और किरदारों को बड़े परदे पर उतारने को तैयार है। रणवीर सिंह, रणबीर कपूर, दिलजीत दोसांझ और अक्षय कुमार के बाद अब अजय देवगन भी इसी लिस्ट में शामिल हो गए हैं। खबर है कि अजय जल्द ही इंडियन फुटबॉल टीम के कोच रहे सैयद अब्दुल रहीम पर बनने वाली बायोपिक में लीड रोल निभाते नजर आएंगे। गौरतलब है कि सैयद अब्दुल रहीम साल 1950 से 1963 तक भारत की फुटबॉल टीम के कोच और मैनेजर रहे थे। इस बायोपिक से जुड़ी एक तस्वीर रिलीज की गई है, जिसमें भारतीय टीम के खिलाड़ी बिना जूतों के फुटबॉल के साथ खड़े दिखाई दे रहे हैं। साथ ही इस तस्वीर पर लिखा है, "भारतीय फुटबॉल के स्वर्ण युग की अनकही कहानी, जल्द ही एक फिल्म के रूप में।"

                      

जब भारत ने FIFA WORLD CUP के लिए किया था क्वालीफाई
फीफा वर्ल्ड कप का फाइनल कुछ ही घंटों में खेला जाना है और हमेशा की तरह भारतीय प्रशंसक इस बात की शिकायत कर रहे हैं कि करोड़ों की आबादी वाले देश में फुटबॉल को खास तवज्जो नहीं मिलती है। ऐसे प्रशंसकों को सैयद अब्दुल रहीम की ये आने वाली बायोपिक राहत दे सकती है, क्योंकि इसमें भारतीय फुटबॉल के स्वर्ण युग की कहानी को दिखाया जाएगा। आमतौर पर माना जाता है कि 1950 से 1962 तक भारत में फुटबॉल का गोल्डन पीरियड रहा था। साल 1950 में हुए फीफा वर्ल्ड कप के लिए भारत की टीम क्वालिफाई भी कर चुकी थी, लेकिन कुछ वजहों से ऑल इंडिया फुटबॉल फेडरेशन ने टीम को वर्ल्ड कप नहीं भेजा। ये भी कहा जाता है कि AIFF उस दौर में FIFA वर्ल्ड कप से ज्यादा तरजीह ओलंपिक्स को देता था, जिसका बड़ा नुकसान भारतीय फुटबॉल को हुआ। 1950 से 1962 के दौरान भारत को एशिया की सबसे शक्तिशाली फुटबॉल टीम माना जाता था। इसी बीच भारत 1951 में हुए एशियन गेम्स में भी भारत ने जीत हासिल की थी। यहां तक की 1956 के ओलंपिक्स में भारत की टीम सेमीफाइनल तक पहुंची थी और ऐसा करने वाली वो पहली एशियाई टीम थी।

                      

बोनी कपूर और जी स्टूडियो मिलकर बनाएंगे ये बायोपिक फिल्म
सैयद अब्दुल रहीम की इस बायोपिक को जी स्टूडियो और बोनी कपूर मिलकर प्रोड्यूस कर रहे हैं। बोनी ने कहा कि, "मैं इस बात को सुनकर हैरान रह गया कि बहुत से लोगों को सैयद अब्दुल रहीम के बारे में मालूम नहीं है। एक ऐसे नायक जिनका ज्यादा बखान नहीं हुआ है, लेकिन उनकी उपलब्धियां सैल्यूट किए जाने लायक हैं। उनकी टीम में चुन्नी गोस्वामी, पीके बनर्जी, बलराम, फ्रैंको और अरुण घोष जैसे हीरो शामिल थे। सैयद अब्दुल रहीम जैसे किरदार को निभाने के लिए अजय देवगन जैसे ही अभिनेता ही जरूरत थी। मुझे उम्मीद है कि ये फिल्म भारत में युवाओं को फुटबॉल खेलने के लिए प्रेरित करेगी।"

                     

पहले भी बायोपिक कर चुके हैं अजय, बने थे सरदार भगत सिंह
वैसे अजय देवगन के लिए बायोपिक में काम करना कोई नई बात नहीं है। वो इससे पहले शहीद-ए-आजम भगत सिंह की जिंदगी पर बनी फिल्म 'द लीजेंड ऑफ भगत सिंह' में टाइटल रोल निभा चुके हैं। उस दौर में सरदार भगत सिंह पर बनी तमाम फिल्मों के बीच में सिर्फ अजय की ही फिल्म को सराहा गया था और भगत सिंह का किरदार निभाने के लिए उन्हें नेशनल अवार्ड से भी नवाजा गया था। फिलहाल सैयद अब्दुल रहीम की इस बायोपिक का टाइटल फाइनल नहीं हुआ है। इस फिल्म का डायरेक्शन अमित शर्मा करेंगे जो कि अर्जुन कपूर और सोनाक्षी सिन्हा स्टारर फिल्म "तेवर" को निर्देशित कर चुके हैं।  

कमेंट करें
Pd8u3
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।