comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

प्रसिद्ध भजन गायक नरेंद्र चंचल का निधन: बचपन से ही जगराते में गाते थे भजन, ‘चलो बुलावा आया है’ गीत ने बदली थी किस्मत

प्रसिद्ध भजन गायक नरेंद्र चंचल का निधन: बचपन से ही जगराते में गाते थे भजन, ‘चलो बुलावा आया है’ गीत ने बदली थी किस्मत

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। ‘चलो बुलावा आया है माता ने बुलाया है’ भजनों की यह जानदार आवाज अब नहीं सुनाई देगी। प्रसिद्ध भजन गायक नरेंद्र चंचल का शुक्रवार दोपहर करीब 12.30 बजे निधन हो गया है। वे 80 साल के थे और लंबे समय से बीमार चल रहे थे। वे 27 नवंबर से दिल्ली के सरिता विहार में स्थित अपोलो अस्पताल में भर्ती थे। उनके ब्रेन में क्लॉटिंग थी। कई दशकों तक माता के भजनों के जरिए लाखों लोगों को भक्तिमय दुनिया में ले जाने वाले नरेंद्र चंचल अपने पीछे दो बेटे और एक बेटी छोड़ गए हैं। अमृतसर (पंजाब) में 16 अक्टूबर, 1940 को जन्मे नरेंद्र चंचल दिल्ली आकर बसे और यहीं के होकर रह गए। 

उनका पालन पोषण बहुत ही धार्मिक वातावरण में हुआ था। बताया जाता है कि बचपन से ही उन्हें भजन गाने का बहुत शौक था। धीरे-धीरे उनका यही शौक उनका करियर बन गया। शुरुआत में उन्होंने गलियों, मोहल्लों मंदिरों में मां की भेंटे गाकर नाम कमाया। काफी संघर्ष के बाद उन्हें बॉलीवुड में काम मिला। उन्होंने अपनी गायकी की शुरुआत साल 1973 में फिल्म बॉबी से की थी। उन्होंने बेनाम और रोटी कपड़ा और मकान जैसी कई फिल्मों में भी गाने गाए थे। लेकिन, फिल्म 'अवतार' का गाना 'चलो बुलावा आया है' गीत से वो घर-घर में लोकप्रिय और देवी गीत के पहचान बन गए। उन्होंने इसी तरह के कई और लोकप्रिय भजन गाए। उन्हें बेस्ट मेल प्लेबैक सिंगर का फिल्म फेयर अवॉर्ड भी मिल चुका है। उन्होंने देश के साथ-साथ विदेशोें में अपने भजनों के जरिए खूब नाम कमाया।

नाम में ऐसे जुड़ा चंचल 
बताया जाता है कि नरेंद्र अपने स्कूल के दिनों में काफी शरारती थे और उनके स्वभाव में चंचलता थी, जिसकी वजह से उनके टीचर उन्हें चंचल कहकर बुलाते थे। बाद में नरेंद्र ने चंचल को अपने नाम का हिस्सा बना लिया था और उन्हें 'नरेंद्र चंचल' के नाम से जाना जाने लगा। 

हर साल 29 दिसंबर को जाया करते वैष्णो देवी
नरेंद्र ने मिडनाइट सिंगर (Midnight Singer) के नाम से अपनी ऑटोबायोग्राफी रिलीज की थी। इसमें उनकी जिंदगी, स्ट्रगल, मेहनत के किस्से और सफलता के बारे में बताया गया था। नरेंद्र चंचल माता कटरा वैष्णो देवी के मंदिर हर साल 29 दिसंबर को जाया करते थे और साल के आखिरी दिन वहां परफॉर्म करते थे। 

हिंदी फिल्मों में भी गाए गाने
नरेंद्र चंचल की लोकप्रियता का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि उन्होंने अमिताभ बच्चन से लेकर शोमैन राजकूपर की फिल्मों के लिए भी गाने गाए। अमिताभ बच्चन अभिनीत ‘बेनाम’ फिल्म में गाया गाना आज भी लोग खूब पसंद करते हैं। इस फिल्म के गाने में नरेंद्र चंचल भी नजर आए थे।

चंचल के गाए मशहूर गीत
'बेशक मंदिर-मस्जिद तोड़ो' - फिल्म 'बॉबी'( 1973)
'मैं बेनाम हो गया'-फिल्म 'बेनाम' (1974)
'बाकी कुछ बचा तो महंगाई मार गई'-फिल्म 'रोटी-कपड़ा और मकान' (1974)
'तूने मुझे बुलाया शेरावाली'- फिल्म 'आशा' ( 1980)
'चलो बुलावा आया है माता ने'- फिल्म 'अवतार' ( 1983)
'हुए हैं वो हमसे कुछ ऐसे पराए'-फिल्म 'अंजाने' (1994)

कमेंट करें
y32V4