दैनिक भास्कर हिंदी: अमिताभ बच्चन को मुंबई BMC का नोटिस, अवैध निर्माण का है मामला

October 26th, 2017

डिजिटल डेस्क, मुंबई। मुंबई महानगर पालिका BMC की तरफ से महानायक अमिताभ बच्चन को अवैध निर्माण के मामले में नोटिस जारी होने के बाद उसका संशोधित प्लान भी नामंजूर हो गया है। जिसे अमिताभ के आर्किटेक्ट की तरफ से इमारत प्रस्ताव विभाग के पास पेश किया गया था। सूचना अधिकार कानून (आरटीआई) के तहत यह जानकारी मिली है। आरटीआई कार्यकर्ता अनिल गलगली ने मनपा के पी दक्षिण कार्यालय से अमिताभ बच्चन और अन्य लोगों को एमआरटीपी के तहत जारी नोटीस की जानकारी मांगी थी। 

संशोधित प्लान भी नामंजूर

एमआरटीपी से नोटिस के बाद बच्चन के आर्किटेक्ट शशांक कोकील की तरफ से 5 जनवरी 2017 को पेश किए गए प्रस्ताव को बीएमसी ने 17 मार्च 2017 नामंजूर कर दिया। इसके बाद बीएमसी के इमारत और प्रस्ताव विभाग ने 11 अप्रैल 2017 को पी दक्षिण कार्यालय को अधिकृत तौर पर यह जानकारी देकर अंतिम आदेश जारी करते हुए अवैध निर्माण हटाने की हिदायत दी थी। इसके बाद आर्किटेक्ट शशांक कोकील ने दोबारा प्रस्ताव पेश किया, तो पी दक्षिण कार्यालय ने इमारत और प्रस्ताव विभाग को पत्र भेजकर अपरोक्ष तौर पर आरोप लगाया कि निर्माण के नियमितकरण को लेकर सही जानकारी दे, क्योंकि इसके चलते उनके कार्यालय को एमआरटीपी कानून के तहत आगे की कार्रवाई करना संभव नहीं हैं। 

इस मामले में भेजा नोटिस

पी दक्षिण मनपा कार्यालय ने अमिताभ बच्चन, राजकुमार हिरानी, ओबेराय रियलिटी, पंकज बलानी, हरेश खंडेलवाल, संजय व्यास, हरेश जगतानी को मंजूर प्लान में अनियमितता को लेकर नोटिस भेजा था। जिसे जारी करने के पहले मनपा ने जांच में पाया था कि इन लोगों द्वारा कई तरह की अनियमितताएं की हैं। अनिल गलगली ने सीएम देवेंद्र फडणवीस और मनपा आयुक्त अजोय मेहता को पत्र भेजकर एमआरटीपी कानून के तहत कार्रवाई करते हुए अवैध निर्माण को तोड़ने की मांग की हैं।