दैनिक भास्कर हिंदी: महामारी के बाद खोजने होंगे काम करने के नए तरीके : कुटले खान

June 7th, 2020

हाईलाइट

  • महामारी के बाद खोजने होंगे काम करने के नए तरीके : कुटले खान

नई दिल्ली, 7 जून (आईएएनएस)। राजस्थानी लोक गायक कुटले खान का कहना है कि कोरोनावायरस महामारी को रोकने के लिए हुए लॉकडाउन से हुए वित्तीय नुकसान ने संगीत उद्योग पर बुरा असर डाला है। अब तो केवल समय ही दिखाएगा कि भविष्य में यह उद्योग कैसे पटरी पर आएगा।

खान ने आईएएनएस को बताया, लॉकडाउन ने मुझे समय दिया है और मुझे नया संगीत बनाने में मदद की है। साथ ही पहले किए गए काम में सुधार और बदलाव लाने पर काम किया है। हालांकि, इस लॉकडाउन के दौरान हुए वित्तीय नुकसान से संगीत उद्योग पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ा है।

लॉकडाउन के दौरान समय का इस्तेमाल करने को लेकर उन्होंने कहा, व्यस्त कार्यक्रम और यात्रा के कारण मुझे अपने परिवार के साथ समय बिताने का मौका मुश्किल से ही मिलता था, लेकिन अब मैं पूरी तरह से उन पर ध्यान दे रहा हूं। कुछ लंबित पड़े काम भी खत्म कर रहा हूं।

लॉकडाउन की घोषणा के बाद से लाइव कॉन्सर्ट्स समेत अन्य संगीत समारोह नहीं हो पाने से शोबिज से जुड़े हजारों लोगों की आजीविका पर इसका प्रभाव पड़ा।

इस लोकप्रिय लोक गायक को लगता है कि इस महामारी के बाद एक नया युग हमारा इंतजार कर रहा है।

उन्होंने कहा, मुझे नहीं पता कि महामारी के बाद चीजें कैसे होंगी। मुझे लगता है कि हमें इंतजार करना होगा और देखना होगा कि चीजें कैसे सामने आती हैं। समय को भविष्य का फैसला करने दें, लेकिन हमें निश्चित रूप से खुद को एक नई कार्य शैली में काम करने के लिए तैयार करना होगा।

गायक मानते हैं कि महामारी के दौरान अपने प्रशंसकों से जुड़े रहना बहुत जरूरी है। खान ने हाल ही में वीकेंड लाइव बॉय ओकस्मिथ गोल्ड ग्लासेस में वर्चुअली परफॉर्मेंस दिया था।