दैनिक भास्कर हिंदी: ऋषिजी और इरफान काफी कम उम्र में चले गए : प्रसून जोशी

May 5th, 2020

हाईलाइट

  • ऋषिजी और इरफान काफी कम उम्र में चले गए : प्रसून जोशी

नई दिल्ली, 5 मई (आईएएनएस)। प्रसिद्ध गीतकार प्रसून जोशी दिवंगत अभिनेता इरफान खान के साथ लगातार संपर्क में थे, जिस वक्त वह अपनी दुर्लभ बीमारी के लिए वास्तव में दर्दनाक उपचार से गुजर रहे थे। जोशी कहते हैं कि इरफान की बीमारी से लड़ने की बहादुरी सभी के लिए प्रेरणादायक है।

2018 में न्यूरोएंडोक्राइन ट्यूमर से पीड़ित हुए इरफान का पिछले हफ्ते 54 साल की उम्र में निधन हो गया था। उन्हें कोलोन संक्रमण के साथ मुंबई के कोकिलाबेन धीरूभाई अंबानी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जिसके बाद उन्होंने अस्पताल में बीमारी के कारण दम तोड़ दिया था।

प्रसून ने आईएएनएस को बताया, मैं इरफान के साथ लगातार संपर्क में था। इस संकट के दौरान मैंने उनसे बात भी की थी।

उन्होंने कहा, उनका इलाज वास्तव में बेहद दर्दनाक था। उन्हें एक दुर्लभ प्रकार की बीमारी थी। दर्दनाक उपचार के बावजूद, वह अपनी प्रतिबद्धताओं को बनाए रखने की कोशिश कर रहे थे और उन्होंने आखिरी सांस तक लड़ाई लड़ी। यह बहुत प्रेरणादायक है।

प्रसून ने अनुभवी अभिनेता ऋषि कपूर के निधन पर भी शोक व्यक्त किया, जिनकी मृत्यु 30 अप्रैल को हुई। अभिनेता ऋषि कपूर ल्यूकेमिया से जूझ रहे थे।

प्रसून ने कहा, मैं उन्हें और उनके परिवार को लंबे समय से जानता था। वह एक जिंदादिल व्यक्ति थे और वह जहां भी जाते थे उस जगह को अलग ही रंग दे देते थे। वह कम उम्र में चले गए। इरफान तो वाकई बहुत कम उम्र में चले गए। दोनों ही आज के समय के मुताबिक बहुत युवा थे। प्रसून ने कोविड-19 लॉकडाउन के कारण उनके अंतिम संस्कार में शामिल न हो पाने को लेकर भी दुख जताया।

काम को लेकर बात करें तो हाल ही में प्रसून जोशी ने ऑस्कर और ग्रैमी विजेता भारतीय संगीतकार एआर रहमान के साथ हाथ मिलाया है। इन्होंने कोविड-19 के खिलाफ राष्ट्र की लडाई में गीत हम हार नहीं मानेंगे के जरिए अपनी ओर से संगीतमय श्रद्धांजलि दी है।

संकट के इस समय में आशा, सकारात्मकता और प्रेरणा फैलाने के लिए इस गीत को बनाया गया है। यह गाना लोगों को याद दिलाता है कि हम सभी एक साथ इस में हैं और हम इस पर जीत प्राप्त कर लेंगे। गीत रहमान द्वारा कंपोज किया गया है इसे प्रसून जोशी ने लिखा है।

यह गाना पिछले सप्ताह एचडीएफसी बैंक द्वारा जारी किया गया था।