दैनिक भास्कर हिंदी: एशिया के सबसे ‘सेक्सिएस्‍ट मैन’ हैं शाहरुख खान, और भी कई खास बातें

November 2nd, 2017

डिजिटल डेस्क, मुंबई। कल का दीवाना किंग ऑफ रोमांस आज कहलाता है। बॉलीवुड के बादशाह शाहरुख खान आज 52 साल के हो गए हैं। इंडस्ट्री में बिना किसी गॉड फादर के शिखर का सितारा बना दिल्ली का एक लड़का जिसकी कहानी थोड़ी फिल्मी है। फिल्मी दुनिया में कामयाबी की वो ऐसे चढ़ा कि लोग देखते रह गए। 15 साल की उम्र में ही उसके पिता का साया उठ गया, लेकिन इसके बाद भी वो टूटा नहीं और संघर्ष करता रहा अपने आप को सबसे बड़ा आदमी बनाने के लिए। शाहरुख के पिता मीर ताज मोहम्मद खान ट्रांसपोर्ट बिजनेस में थे। उनकी मां का नाम लतीफ फातिमा और बड़ी बहन का नाम शहनाज है।

शाहरुख ने अपनी शुरुआती शिक्षा दिल्ली के कोलम्बस स्कूल से हासिल की, इसके बाद हंसराज कॉलेज में दाखिला ले लिया। इन्हीं दिनों शाहरुख का रुझान टेलीविजन की ओर होने लगा तो उन्होंने मास कम्यूनिकेशन की पढ़ाई के लिए जामिया मिलिया इस्लामिया में प्रवेश ले लिया। इसी के साथ वे थिएटर से जुड़ गए और अभिनय की बारीकियां सीखने लगे।  शाहरुख आज एक ऐसा सितारा बन गए हैं जिसकी बराबर कोई कलाकार ऊंचाई नहीं पा सकता है। 

 

दुनिया का सबसे बड़ा मूवी स्‍टार खिताब भी हासिल किया 

लॉस एंजिलेस टाइम्‍स ने शाहरुख को दुनिया का सबसे बड़ा फिल्मों का सितारा बताया है। देश में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी उनके चाहने वालों की संख्‍या बहुत ज्‍यादा है। 2014 में छपी एक रिपोर्ट कहती है कि शाहरुख दुनिया के दूसरे सबसे अमीर एक्‍टर्स में गिने जाते हैं। शाहरुख ने अपने सिनेमा कैरियर में 14 फिल्‍मफेयर अवार्ड्स जीते हैं। लंदन के मैडम तुसाद संग्रहालय में उनकी वैक्‍स की मूर्ति भी रखी गई है। शाहरुख के बारे में उनके करीबी लोगों का कहना है कि उनकी खास अदा ही उन्हें दूसरे हीरोज से अलग बनाती है। गौरी ने भी एक इंटरव्यू में कहा था कि वे शाहरुख की स्टाइल पर फिदा हो गई थी। कहा जाता है फौजी सीरियल के दौरान वे शाबाज खान के पीछे खड़े रहा करते थे। सीरियल में उनका रोल बहुत ज्यादा तो नहीं था, लेकिन फौजी के निर्देशक की नजर शाहरुख के ऊपर पड़ी और उन्हें आगे ला खड़ा किया। इसके बाद फौजी सीरियल में वे लीड रोल में आ गए। सीरियल की कहानी शाहरुक के लिए फिर से लिखी गई। 

 

शाहरुख ने साबित किया कि वे लंबी रेस का घोड़ा हैं

बॉलीवुड में आते ही शाहरुख ने साबित कर दिया था कि वे लंबी रेस का घोड़ा हैं। उनकी किस्मत बहुत बुलंद है, हालांकि इसमें कोई संदेह नहीं है। फिल्म दीवाना के समय शाहरुख को कुछ लोग ही जानते थे, फिल्म में ऋषि कपूर से बड़ा कोई सितारा नहीं था, लेकिन जैसे ही पर्दे पर इंटरवल के बाद शाहरुख की इंट्री हुई लोगों के सामने एक नया चेहरा था, एक अलग स्टाइल के साथ शाहरुख ने हर दर्शक के दिल में अपनी एक खास जगह बना ली। यह फिल्म सुपरहिट हो गई, इसके बाद तो जैसे शाहरुख की किस्मत ही खुल गई। एक के बाद एक फिल्मों मिलती गईं और शाहरुख खान लोगों के दिलों पर राज करते गए। फिर चाहे वह बाजीगर, डर और अंजाम जैसी फिल्में रही हों जिनमें उनका निगेटिव किरदार देखने को मिला या फिर रोमांटिक किरदारों वाली उनकी दिल वाले दुल्हनिया ले जाएंगे, परदेश, दिल तो पागल हैं, मोहब्बतें, देवदास, करन-अर्जुन और भी बहुत सी फिल्में।

शाहरुख का महलों जैसा बंगला 'मन्नत'

शाहरुख ने अपने करियर के शुरुआती दिनों में ही एक मन्नत मांगी थी, कि मुंबई में वे सफल होते ही एक बंगला खरीदेंगे। जैसे ही शाहरुख की यह ख्वाहिश पूरी हुई, उन्होंने सबसे पहले एक घर खरीदा जिसे नाम दिया 'मन्नत'। यह बंगला आज एक आलीशान महल के रूप में परिवर्तित हो गया है। मन्नत के अंदर शाहरुख खान ने हर सुख-सुविधा का बंदोबस्त किया है। शाहरुख के पास आज खुद की बड़ी वैनिटी वैन भी है, जिसमें हर संसाधन है। शाहरुख ने अपने बंगले में  बच्चों के लिए डिज्नी लैंड की तरह इंतजाम भी किया है। शाहरुख के आज तीन बच्चों के पिता हैं, आर्यन, सुहाना और अबराम।

शाहरुख की प्रसिद्ध फिल्‍में

दीवाना, बाजीगर, डर, कभी हां कभी ना, करन अर्जुन, दिलवाले दुल्‍हनियां ले जाएंगे, चाहत, कोयला, यस बॉस, परदेस, दिल तो पागल है, दिल से, कुछ कुछ होता है, जोश, मोहब्‍बतें, कभी खुशी कभी गम, देवदास, कल हो न हो, मैं हूं ना, वीर जारा, डॉन, चक दे इंडिया, ओम शांति ओम, रब ने बना दी जोड़ी, माय नेम इज खान, रा.वन, डान 2, जब तक है जान, चेन्‍नई एक्‍सप्रेस, हैप्‍पी न्‍यू ईयर जैसी प्रसिद्ध फिल्‍मों से शाहरुख ने अपनी एक्टिंग का लोहा मनवाया।

एशिया के सबसे ‘सेक्सियस्‍ट मैन’

2007 में ईस्‍टर्न आई नाम की मैगजीन ने एक सर्वे कराया था, जिसमें उन्‍हें एशिया का सबसे ‘सेक्सियस्‍ट मैन’ कहा गया। शाहरुख के ऊपर दो डॉक्‍यूमेंट्री भी बन चुकी है जिसका नाम है- "द इनर एंड आउटर वर्ल्‍ड ऑफ शाहरुख खान" और "लिविंग विद द सुपरस्‍टार-शाहरुख खान"। 

फ्रांस सरकार ने ‘लीजन डी ऑनर’ से नवाजा

हिंदी फिल्‍मों में शाहरुख के योगदान के लिए भारत सरकार की तरफ से उन्‍हें पद्मश्री पुरस्‍कार से भी नवाजा जा चुका है। वहीं फ्रांस सरकार ने उन्‍हें ‘ओरड्रे डेस आर्ट्स एट डेस लेट्रेस’ और उनके सर्वोच्‍च नागरिक सम्‍मान ‘लीजन डी ऑनर’ नामक पुरस्‍कार से भी नवाजा है। शाहरुख को उनके फिल्‍मी करियर के दौरान कई पुरस्‍कार मिले, वे फिल्‍मफेयर पुरस्‍कारों में 30 बार नामांकित हो चुके हैं, जिनमें से 14 बार यह पुरस्‍कार हासिल किया है। इसमें भी 8 बार सर्वश्रेष्‍ठ अभिनेता के तौर पर यह पुरस्‍कार प्राप्त किया। वह दिलीप कुमार के साथ इस श्रेणी में सबसे अधिक 8 पुरस्‍कार पाने वाले अभिनेता हैं।