comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

Fake news: अयोध्या में पुलिस ने दो आतंकवादियों को बम के साथ पकड़ा, जानें वायरल वीडियो का सच

Fake news: अयोध्या में पुलिस ने दो आतंकवादियों को बम के साथ पकड़ा, जानें वायरल वीडियो का सच

डिजिटल डेस्क। सोशल मीडिया पर इन दिनों एक वीडियो वायरल हो रहा है। वीडियो में कुछ पुलिसकर्मी सड़क पर दो नकाबपोश युवकों को पकड़ते दिखाई दे रहे हैं। इस वीडियो के साथ यह दावा किया जा रहा है कि अयोध्या के अशर्फी भवन के पास पुलिस ने दो आतंकवादियों को बम के साथ पकड़ा है। इनका मकसद अयोध्या में मंदिर के निर्माण में बाधा डालना था। 

किसने किया शेयर?
फेसबुक यूजरविश्व हिंदु एकता मंच ने वीडियो शेयर करते हुए कैप्शन में लिखा:- “#ayodhaya, अयोध्या में अशर्फी भवन के पास दो आतंकियों को बम के साथ पुलिस ने गिरफ्तार किया। मकसद साफ है, मंदिर के निर्माण मे बाधा डालना, लेकिन मंदिर तो बन कर ही रहेगा, #जय_श्री_राम भगवा”। 

क्या है सच? 
भास्कर हिंदी टीम ने अपनी पड़ताल में पाया कि वायरल वीडियो को लेकर किया जा रहा दावा गलत है। वायरल हो रहा वीडियो कोई असली घटना नहीं है, बल्कि अयोध्या पुलिस की ओर से की गई मॉक ड्रिल का वीडियो है। वीडियो के बारे में सर्च करने पर हमें  कई मीडिया रिपोर्ट्स मिलीं हैं। इन रिपोर्ट्स के अनुसार, अयोध्या पुलिस ने 29 मई को अयोध्या के अशर्फी भवन चौराहे पर ब्लैक कैट कमांडो के साथ यलो जोन में मॉक ड्रिल की थी।

इस दौरान दो नकाबपोश युवकों ने आतंकवादियों का किरदार निभाया था। यह मॉक ड्रिल अयोध्या के पुलिस क्षेत्राधिकारी अमर सिंह के नेतृत्व में की गई थी। वायरल हो रहा वीडियो इसी मॉक ड्रिल का है। मीडिया रिपोर्ट्स में मिला वीडियो, गलत दावा के साथ वायरल हो रहे वीडियो से मेल खाता है। यह तो साफ है कि, वायरल पोस्ट में किया जा रहा दावा गलत है, यह कोई असली घटना नहीं थी, बल्कि यह एक मॉक ड्रिल का वीडियो है। 

निष्कर्ष: वायरल वीडियो के साथ किया जा रहा दावा बिल्कुल गलत है। यह वीडियो किसी असली घटना का नहीं है, बल्कि अशर्फी भवन चौराहे पर अयोध्या पुलिस की मॉक ड्रिल का वीडियो है। 
 


 

कमेंट करें
2vEy9
कमेंट पढ़े
TheUttarakhand.News November 10th, 2020 15:41 IST

I like this article. It is beneficial for others. TheUttarakhand.News