फैक्ट चैक: क्या कनाडा के पीएम जस्टिन ट्रुडो ने किया है सिखों की पगड़ी उतारने पर 10 साल की सजा का ऐलान

July 29th, 2022

डिजिटल डेस्क,भोपाल। सोशल मीडिया पर इन दिनों कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रुडो का एक बयान काफी वायरल हो रहा है। इस बयान के अनुसार, कनाडा के पीएम ने कहा है कि अब कनाडा में किसी सिख की पगड़ी उतारने वालों को दस साल की सजा भुगतनी होगी। कनाडा के पीएम के कथित बयान की तारीफ करते हुए कई लोग उनकी प्रशंसा और उन्हें धन्यवाद कहते हुए पोस्ट कर रहे हैं।

 एक फेसबुक यूजर ने लिखा, “कनाडा के प्रधानमंत्री का ऐलान, सिक्ख की पगड़ी उतारने वाले को 10 साल की सजा, दिल से शुक्रिया सर जी”।

पड़ताल - हमने वायरल बयान के बारे में जानकारी एकत्रित की। इसके लिए सबसे हमने कीवर्ड सर्च की सहायता ली। सर्च में मिला कि साल 2017 और 2018 में ऐसा ही कथित बयान ट्रुडो के हवाले से सोशल मीडिया पर शेयर किया गया था। हमारी सर्च में हमें द हिंदू की एक रिपोर्ट भी मिली। 3 जुलाई 2016 को पब्लिश हुई इस पोस्ट में बताया गया कि, कनाडा के क्यूबेक में सुपिंदर सिंह नाम के एक सिख युवक की चार लोगों ने बड़ी बेरहमी से पिटाई की थी। साथ ही उसके साथ गाली-गलौच भी की थी। 


बाद में पीड़ित सिख युवक ने बताया कि उसे, उसके गेहुंआ रंग और पगड़ी की वजह से निशाना बनाया गया। मारपीट के दौरान उसकी पगड़ी खुल कर गिर गई थी। 

 

इस घटना में के मुख्य आरोपी 22 साल के गैब्रियल रॉयर ट्रेम्ब्ले को कोर्ट द्वारा दोषी करार देते हुए 10 महीने की सजा सुनाई गई। 

 

ट्रुडो ने की थी घटना की निंदा

इस घटना के बाद कनाडा के पीएम जस्टिन टुड्रो ने इसकी घोर निंदा करते हुए कहा था कि, कनाडा में इस तरह की नफरत भरी हिंसा बर्दाश्त नहीं की जाएगी। साल 2016में घटी इस घटना उस समय काफी चर्चा में रही थी। 

पड़ताल से साफ है कि 6 साल पहले हुई इस घटना को गलत दावे के साथ अभी का बताकर पेश किया जा रहा है क्योंकि अगर यह घटना अभी की होती तो उसका जिक्र किसी न किसी मीडिया संस्थान में जरुर होता। 
 

खबरें और भी हैं...