Fake News: Myntra ने नहीं बनवाया यह वायरल विज्ञापन, पांच साल पुरानी है खबर

August 28th, 2021

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। सोशल मीडिया पर बहुत सारी चाजें मिंटो में ट्रेंड करने लगती हैं,आए दिन ऐसे विज्ञापन हमें देखने को मिलते हैं जिसे लेकर लोगों में नाराजगी होती है, यह विज्ञापन कहीं ना कहीं लोगों की भावनाओं को ठेस पहुंचाते नजर आते हैं। ट्विटर पर 23 अगस्त को #BoycottMyntra ट्रेंड हुआ था। इसके बाद इसे कई सारे लोगों ने अलग अलग प्लेटफार्म पर शेयर ​करना शुरू कर दिया।  

आपको बता दें कि शंकराचार्य गुरुकुल ट्रस्ट की राष्ट्रीय अध्यक्ष कल्पना श्रीवास्तव द्वारा एक ट्वीट किया गया था, जिसमें उन्होंने एक फोटो लगाई, फोटो को Myntra की वेबसाइट का स्क्रीनशॉट बताया गया है। 

तालिबान ने नहीं उड़ाया पाकिस्तान की मस्जिद को, फर्जी है यह तस्वीर

क्या है ट्वीट में
फोटो में माहाभारत के चिरहरण का दृश्य है जिसमें श्री कृष्ण Myntra के वेबसाईट से द्रौपदी के लिए साड़ी मंगाते नजर आ रहे हैं। लोगों का कहना है कि इस विज्ञापन को Myntra द्वारा इस्तेमाल कर हिंदू धर्म मजाक बनाया गया है इसके लिए Myntra का बायकॉट करना चाहिए। कई सोशल मीडिया यूजर्स ने इस फोटो को शेयर कर अपनी नाराजगी जताई और #BoycottMyntra भी लिखा।

क्या सही में विज्ञापन Myntra का है?
इस फोटो को जब हमने गूगल कीवर्ड्स की सहायता से रिवर्स सर्च किया तो 2016 की कुछ रिपोर्ट्स देखने को मिली, रिपोर्ट्स के मुताबिक, घटना 2015 की है जब @ ScrollDroll नाम की एक विज्ञापन वेबसाईट ने इस फोटो को अपलोड किया था। इस फोटो पर विवाद बढ़ने के बाद इसने लोगों से माफी भी मांगी थी और इसे हटाते हुए 2016 में बताया था कि Myntra का इस विज्ञापन से कोई लेना-देना नहीं है। 

@ ScrollDroll के ट्वीट में लिखा गया “हम इस कलाकृति की जिम्मेदारी लेते हैं। Myntra इससे प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप से कहीं भी जुड़ा नहीं है”। इस ट्वीट को Myntra ने रिट्वीट करते हुए लिखा “हमने यह कलाकृति नहीं बनाई है और न ही हम इसका समर्थन करते हैं।”

क्या सच में अफगानिस्तान से विमान के विंग पर बैठ कर भागा यह शख्स, जानें वायरल वीडियो का सच

@ ScrollDroll ने एक और ट्वीट कर लिखा “अगर हमारी किसी कलाकृति ने किसी की भावनाओं को ठेस पहुंचाई है तो हम माफी मांगते हैं और हमें गहरा खेद है।” इन सब से यह बात साफ हो जाती है कि घटना 2016 की है जब इस विज्ञापन ने लोगों की भावनावों को ठेस पंहुचाई थी जिसे @ ScrollDroll नाम की वेबसाईट ने बनाया था और इसका Myntra से कोई लेना-देना नहीं है। फिलहाल इस 5 साल पुराने स्क्रीनशॉट का इस्तेमाल वापस से Myntra का बायकॉट करने के लिए किया जा रहा है।