comScore

फर्जी खबरों पर लगेगी लगाम, जांच के लिए फैक्ट चेक यूनिट का गठन

फर्जी खबरों पर लगेगी लगाम, जांच के लिए फैक्ट चेक यूनिट का गठन

हाईलाइट

  • पीआईबी ने फैक्ट चेक यूनिट का गठन किया
  • फर्जी खबरों के प्रति सावधान करना इस फैक्ट चेक यूनिट का काम होगा

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। प्रेस इन्फॉर्मेशन ब्यूरो (पीआईबी) ने वर्तमान समय में फर्जी खबरों, खासकर के सोशल मीडिया पर, के बढ़ते प्रसार को देखते हुए फैक्ट चेक यूनिट का गठन किया है। सरकारी मंत्रालयों, विभागों और योजना की सत्यता की जांच कर पुष्टि करना और लोगों को फर्जी खबरों के प्रति सावधान करना इस फैक्ट चेक यूनिट का काम होगा।

सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर कहा, यदि कोई ऐसा संदेश आता है, जो जरूरत से ज्यादा अच्छा लगे, या कोई ऐसा संदेश जिसकी सत्यता की जांच आप चाहते हों!!! इसे भेजें और हम आपके लिए इसका फैक्ट चेक करेंगे, कोई सवाल नहीं पूछा जाएगा।

मंत्रालय ने बैनर में हैशटैग पीआईबी फैक्ट चेक के साथ कहा, कभी लगता है कि व्हाट्सएप पर आया संदेश सच्चा है या फर्जी खबर है? या फिर ट्वीट/एफबी (फेसबुक) पोस्ट सच्ची है? अब और चिंता नही। सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने लोगों से यह भी आग्रह किया है कि वह किसी भी संदिग्ध सामग्री के स्नैपशॉट ई-मेल करें। कई मौकों पर सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर फर्जी खबर से लड़ने की बात कह चुके हैं, उन्होंने फर्जी खबर को पेड न्यूज से अधिक खतरनाक करार दिया था।

कमेंट करें
caOyP