comScore

Fake News: क्या शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों ने जलाया तिरंगा ?

Fake News: क्या शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों ने जलाया तिरंगा ?

डिजिटल डेस्क। नागरिकता संशोधन कानून को लेकर देशभर में विरोध प्रदर्शन चल रहा है। दिल्ली के शाहीन बाग में मुस्लिम महिलाएं दो महीने से प्रदर्शन में बैठी है। इस बीच सोशल मीडिया पर एक तस्वीर काफी वायरल हो रही है। फोटो में दो मुस्लिम व्यक्ति भारत का राष्ट्रीय ध्वज को जलाते हुए नजर आ रहे हैं। दावा किया जा रहा है कि सीएए और एनआरसी के विरोध में शाहीन बाग में मुसलमानों ने झंडे को जलाया है।

किसने किया ?
फेसबुक पर तस्वीर को Pradeep Lodhi ने शेयर किया है। पोस्ट पर कैप्शन है शाहीन बाग में मुसलमानों ने सीएए-एनआरसी के विरोध में तिरंगा जलाया है। मुसलमान आतंकवादी देशद्रोही है। अब मुसलमानों को भगाना है पाकिस्तान में, हिंदू भाई एक हो जाए जय श्री राम। इनके पोस्ट को एक हजार से ज्यादा लोग लाइक कर चुके हैं।

                                                   

क्या है सच?
भास्कर हिंदी टीम ने अपनी पड़ताल में पाया कि किया जा रहा दावा गलत है। दरअसल भारतीय तिरंगा पाकिस्तान के मुल्तान में साल 2015 में जलाए गए था। पड़ताल में हमें एक ब्लॉग मिला जिसमें सभी तस्वीर मौजूद हैं।

                                                  

निष्कर्ष: यह साफ है कि वायरस तस्वीर पांच साल पुरानी और पाकिस्तान की है। 
 

कमेंट करें
h09jq