दैनिक भास्कर हिंदी: कोविड-19 : अहमदाबाद में कोरोना के 8 नए मामले

April 1st, 2020

हाईलाइट

  • कोविड-19 : अहमदाबाद में कोरोना के 8 नए मामले

गांधीनगर, 1 अप्रैल (आईएएनएस)। गुजरात की वित्तीय राजधानी अहमदाबाद में बुधवार को कोरोनावायरस के आठ नए पॉजिटिव मामले सामने आए हैं। राज्य में फिलहाल 82 लोग संक्रमित हैं और वायरस की वजह से छह मौतें हो चुकी हैं।

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के प्रमुख सचिव जयंती रवि ने कहा, अहमदाबाद में आठ नए मामले सामने आए हैं। केंद्र सरकार द्वारा अहमदाबाद को हॉटस्पॉट घोषित करने से पहले हमने अहमदाबाद, सूरत, वडोदरा, राजकोट और गांधीनगर में इस तरह के प्रकोप की घोषणा की थी।

उन्होंने कहा, इन आठों में इंदौर की यात्रा करने वाले एक 52 वर्षीय पुरुष व 18 वर्षीय युवक, अंतर्राज्यीय यात्रा करने वाली एक 45 वर्षीय महिला और एक स्थानीय तौर पर संक्रमित हुई 65 साल की महिला शामिल है। उन्हें अहमदाबाद के सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

रवि ने बताया, अंतर्राज्यीय यात्रा इतिहास के साथ एक पुरुष (68), अंतर्राष्ट्रीय यात्रा इतिहास के साथ एक पुरुष (54) और स्थानीय रूप से संक्रमित एक महिला (58) को सरदार वल्लभभाई पटेल (एसवीपी) अस्पताल में भर्ती कराया गया है। एक अन्य पुरुष (67) जो स्थानीय रूप से संक्रमित हैं, उन्हें सोला सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

उन्होंने कहा, कुल 82 पॉजिटिव मामलों में से 66 की स्थिति स्थिर है, छह को छुट्टी दे दी गई है, जबकि तीन की हालत गंभीर है और वे वेंटिलेटर पर हैं।

राज्य में एकांत में रखे गए लोगों की की संख्या 19,206 है। इनमें से घरों में 18,487, सरकारी संस्थानों में 743 और निजी तौर पर कुल 253 लोग एकांतवास में हैं। एकांतवास का उल्लंघन करने वाले व्यक्तियों के खिलाफ 418 प्राथमिकी दर्ज की गई है।

रवि ने कहा, हमने 1,586 नमूनों का परीक्षण किया है, जिनमें से 1,501 नेगेटिव निकले हैं। कुल 82 मामले पॉजिटिव पाए गए हैं। तीन नमूनों की रिपोर्ट आनी बाकी है।

राज्य में सबसे ज्यादा 31 मामले अहमदाबाद में हैं। इसके बाद गांधीनगर में 11, सूरत और राजकोट में 10-10, वडोदरा में नौ, भावनगर में छह, गिर-सोमनाथ में दो और पोरबंदर, महेसाणा और कच्छ में एक-एक मामले सामने आए हैं।

कुल 82 संक्रमित लोगों में से 33 का विदेश यात्रा का इतिहास है, जबकि आठ लोग अंतर-राज्यीय स्तर पर संक्रमित हुए हैं। राज्य में 41 लोगों को स्थानीय स्तर पर संक्रमण हुआ है।