comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

महाराष्ट्र में यात्रियों ने रोकी ट्रेनें, लगाई गईं अतिरिक्त बसें

July 22nd, 2020 17:30 IST
 महाराष्ट्र में यात्रियों ने रोकी ट्रेनें, लगाई गईं अतिरिक्त बसें

हाईलाइट

  • महाराष्ट्र में यात्रियों ने रोकी ट्रेनें, लगाई गईं अतिरिक्त बसें

पालघर (महाराष्ट्र), 22 जुलाई (आईएएनएस)। मुंबई, ठाणे और अन्य स्थानों में फंसे सैकड़ों परेशान यात्रियों ने बुधवार को नाला सोपारा स्टेशन पर ट्रेनें रोक दीं। उन्होंने कोविड मामलों की वृद्धि के कारण बंद की गई नियमित उपनगरीय ट्रेन सेवाओं को फिर से शुरू करने की मांग की है।

इन यात्रियों में ज्यादातर मुंबई महानगर क्षेत्र या मुंबई मेट्रोपोलिटन क्षेत्र में निजी कंपनियों या कारखानों में काम करने वाले लोग हैं। उन्होंने कहा कि बुधवार को महाराष्ट्र राज्य सड़क परिवहन निगम द्वारा बसों के रोके जाने के कारण वे फंस गए थे।

इन यात्रियों ने नाला सोपारा स्टेशन तक मार्च किया और इनमें से कई यात्री पटरियों पर बैठ गए और उन्होंने विशेष लोकल ट्रेनों को रोक दिया। उन्होंने मांग की कि उन्हें उपनगरीय लोकल ट्रेनों में नियमित रूप से यात्रा करने की अनुमति दी जानी चाहिए।

बाद में जीआरपी मौके पर पहुंची और उसने शांतिपूर्ण तरीके से भीड़ को वहां से हटाया।

मुंबई, ठाणे, पालघर और रायगढ़ क्षेत्र के यात्रियों की मांग है कि देश की वाणिज्यिक राजधानी की लाइफलाइन कही जाने वाली लोकल ट्रेनों को फिर से शुरू किया जाए। उन्होंने कहा कि या तो विशेष तौर पर चलाई जा रही लोकल ट्रेनों में अधिक श्रेणियों के मजदूरों को यात्रा करने की अनुमति दी जाए।

एमएसआरटीसी के एक प्रवक्ता ने कहा कि आमतौर पर प्रतिदिन करीब 150 राज्य परिवहन बसों का संचालन होता है। लेकिन इस अप्रत्याशित भीड़ को गंतव्य तक पहुंचाने के लिए बुधवार को इनकी संख्या 300 तक बढ़ाई जा रही हैं। अगले कुछ दिनों में 200 और बसों को नियमित सेवाओं में जोड़ा जाएगा।

प्रवक्ता ने आईएएनएस को बताया, पिछले दो दिनों से विशेष ट्रेनों से यात्रा करने वाले कई यात्रियों को विभिन्न कारणों से यात्रा करने की अनुमति नहीं दी गई थी। नतीजतन, अचानक राज्य परिवहन की बसों में भीड़ बढ़ गई। चूंकि हम सोशल डिस्टेंसिंग के मानदंडों का कड़ाई से पालन करते हैं, लिहाजा एक बस में करीब 22 यात्रियों को अनुमति देते हैं। ऐसे में अतिरिक्त यात्री आने से समस्या बढ़ गई। हमें उम्मीद है कि कुछ दिनों में हम इस समस्या को हल कर लेंगे।

उधर रेल यात्री परिषद के अध्यक्ष सुभाष गुप्ता ने चेतावनी देते हुए कहा, उपनगरीय ट्रेनें नहीं चल रही हैं और बसें अपर्याप्त होने से यात्री नाराज हैं। हम सरकार से आग्रह करते हैं कि वह स्थिति बिगड़ने से पहले तुरंत एसटी या निजी बसों को तैनात करे।

एमएमआर महामारी का हॉटस्पॉट है। यहां 2,06,221 कोविड-19 मामले और 8,402 मौतें दर्ज हो चुकी हैं।

कमेंट करें
Qi6Vz
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।