दैनिक भास्कर हिंदी: Health: पीपीते के पत्तों का रस है औषधीय गुणों से भरपूर, जानिए इसके 5 फायदे

January 27th, 2021

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। पपीता - एक मल्टीपर्पज फ्रूट। अकेला पपीता ही नहीं इसका पूरा का पूरा प्लांट ही औषधीय गुणों से भरपूर है। इसके पत्ते भी अपने अत्यधिक शक्तिशाली औषधीय गुणों के लिए जाने जाते हैं। जिस प्रकार पीले, नारंगी, फ्रूट विटामिन से भरपूर होते हैं, उसी प्रकार हरे पपीते के पत्ते में विटामिन ए, सी, ई, के, बी होता है। इसके साथ-साथ इसमें कैल्शियम, मैग्नीशियम, आयरन, सोडियम की भरपूर मात्रा होती है। पपीते के पत्ते का उपयोग कई बीमारियों को ठीक करने के लिए किया जाता है। इसका रस अद्भुत काम करता है। आइए आपको बताते हैं पपीते के पत्ते के रस के कुछ असाधारण स्वास्थ लाभ:

1. डेंगू में लाभदायक: 
डेंगू के चलते हमारे ब्लेड में प्लेटलेट काउंट की कमी हो जाती है। पपीते के पत्ते का रस प्लेटलेट बढ़ाने में चमत्कार की तरह काम करता है। पपीते के पत्ते का 25 मिलीलीटर रस दिन में दो बार पानी के साथ लेने से डेंगू से लड़ने में मदद मिलती है।

2. लिवर के लिए फायदेमंद: 
पपीते की पत्ती के अर्क से आपके लिवर की कार्यप्रणाली में सुधार होता है। जूस के हीलिंग गुणों में क्रोनिक लिवर की बीमारियों को ठीक करने की क्षमता है- पीलिया, लिवर किरहोसिस। यह स्वाभाविक रूप से लिवर को detoxify करता है और लिवर से विषाक्त पदार्थों को साफ करता है।

3. त्वचा, बालों को बेहतर बनाता है: 
आपके शरीर पर पपीते का रस लगाने से ड्राय स्किन की समस्या दूर होती है। यह एक प्राकृतिक मॉइस्चराइज़र के रूप में कार्य करता है। पिंपल्स, मुंहासे को कम करता है। अतिरिक्त तेल स्राव को रोकता है। हेयर ग्रोथ, डेनड्रफ में भी पपीते का जूस मददगार है।

4. मलेरिया को ठीक करता है:
पपीते के पत्ते के रस में एसिटोगोनिन कंपाउंड होता है जो मलेरिया के इलाज के लिए प्रभावी रूप से काम करता है। इसके प्लास्मोडायस्टेटिक गुण अप्रत्यक्ष रूप से मलेरिया फीवर को मैनेज करते हैं।

5. मधुमेह को नियंत्रित करता है और पाचन को बढ़ाता है: 
पीपीते के रस की मेडिसिनल प्रॉपर्टी इंसुलिन सेंसिटिविटी को बढ़ाने और ब्लड शुगर के लेवल को नियंत्रित करने में मदद करती है। यह ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को कम करता है, किडनी डैमेज को रोकता है। इसके एंजाइम पेट के अल्सर और  अपच के लिए अद्भुत काम करते हैं।