दैनिक भास्कर हिंदी: आज से बच्चों पर वैक्सीन ट्रायल, AIIMS में 6 से 12 वर्ष के बच्चों पर शुरू होगी स्क्रीनिंग

June 15th, 2021

हाईलाइट

  • आज से 6 से 12 वर्ष के बच्चों पर स्क्रीनिंग शुरू होगी
  • 2 से 18 साल के बच्चों में परीक्षण करने की मंजूरी मिली थी
  • इस आयु के बच्चों में यह परीक्षण तीन हिस्सों में किया जाएगा

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। कोरोनावायरस (coronavirus) ने बीते वर्ष की तुलना में अपनी दूसरी लहर से देशभर में कोहराम मचाया है। करीब 4 लाख तक प्रतिदिन की संख्या में लोग इसकी चपेट में आए। वहीं 3 हजार से अधिक लोगों की प्रति दिन मौत भी दर्ज हुई। हालांकि चिंता उस समय और बढ़ गई, जब कोरोना ने बच्चों को अपनी गिरफ्त में लेना शुरू ​कर दिया और इसके लिए अब तक वैक्सीन उपलब्ध नहीं है। लेकिन जल्द ही देश में बच्चों के लिए भी वैक्सीन उपलब्ध होगी। 

दरअसल, आज से AIIMS में 6 से 12 वर्ष के बच्चों पर स्क्रीनिंग शुरू होने जा रही है। इस आयु वर्ग के बच्चों पर भारत बायोटैक द्वारा निर्मित स्वदेशी टीका कोवैक्सिन का ट्रायल किया जाएगा। बता दें कि, भारत को औषधि महानियंत्रक (DCGI) ने 12 मई को दो से 18 साल आयुवर्ग के बच्चों में भारत बायोटेक के कोवैक्सीन के दूसरे और तीसरे चरण के नैदानिक परीक्षण करने की मंजूरी दे दी थी। 

दिल्ली के अपोलो अस्पताल में आज पहुंचेंगी स्पुतनिक-V

नामांकन शुरू
जानकारी के मुताबिक, देश के स्वदेशी तौर पर विकसित पहले कोविड रोधी टीके कोवैक्सीन के 6 से 12 साल के बच्चों में नैदानिक परीक्षण के लिए एम्स में नामांकन शुरू होने जा रहा है। इसके बाद 2 से 6 साल के आयुवर्ग के बच्चों पर नैदानिक परीक्षण किया जाएगा। 

जबकि अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) में 12-18 आयुवर्ग के स्वयंसेवकों के नामांकन की प्रक्रिया पूरी हो चुकी है। बीते शनिवार तक जिन बच्चों को वैक्सीन लगाई गई है वो अब तक पूरी तरह से स्वस्थ हैं। 

Covid-19 India: बीते 24 घंटे में 59 हजार नए मरीज मिले 

तीन हिस्सों में परीक्षण
6 से 12 साल के बच्चों की भर्ती के बाद एम्स दिल्ली 2-6 साल के आयु वर्ग के लिए भी परीक्षण करेगा। यह ट्रायल्स देशभर के 525 केंद्रों पर होंगे। इनमें 175-175 बच्चों के तीन ग्रुप बनाए गए हैं...
- पहले ग्रुप में 12 से 18 साल की उम्र के 175 बच्चे शामिल होंगे। 
- दूसरे ग्रुप में 6 से 12 साल की उम्र के 175 बच्चे शामिल किए जाएंगे।
- तीसरे ग्रुप में 2 से 6 साल की उम्र के 175 बच्चों को शामिल किया जाएगा।