दैनिक भास्कर हिंदी: बस मेरी गलती के इंतजार में ही रहता है अमेरिकी मीडिया - डोनाल्ड ट्रम्प

September 5th, 2018

हाईलाइट

  • डोनाल्ड ट्रम्प ने अपने ही देश के मीडिया को आड़े हाथों लेते हुए नाराजगी जताई है।
  • अमेरिका का मीडिया ये देखने के लिए मरा जा रहा है कि मैं कोई गलती करूं - ट्रम्प।
  • ऐसा न तो बराक ओबामा के समय हुआ और न ही कभी जॉर्ज डब्ल्यू बुश के समय देखा गया।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने अपने ही देश के मीडिया को आड़े हाथों लेते हुए नाराजगी जताई है। ट्रम्प ने कहा कि अमेरिकी मीडिया बस उनकी छोटी सी भी गलती के इंतजार में रहता है। ट्रम्प ने कहा कि अमेरिका का मीडिया ये देखने के लिए मरा जा रहा है कि मैं कोई गलती करूं। हाल ही में व्हाइट हाउस ने राष्ट्रपति के एक कार्यक्रम में टीवी न्यूज चैनल सीएनएन की एक महिला रिपोर्टर को जाने से रोक दिया था, इस बर्ताव को लेकर मीडिया में ट्रम्प की जोरदार आलोचना की जा रही है।

ट्रम्प ने गुरुवार को आयोवा में अपने समर्थकों के बीच कहा, "आप इन कैमरों को देख रहे हैं। मैं जहां जाता हूं, ये सभी लोग मौजूद रहते हैं। ऐसा न तो पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा के समय हुआ और न ही कभी जॉर्ज डब्ल्यू बुश के समय देखा गया। वो हर वक्त मुझे फॉलो कर रहे हैं। मीडिया मेरे हर शब्द का विश्लेषण करता है।'' उधर, रिपोर्टर को रोके जाने को लेकर व्हाइट हाउस कॉरसपॉन्डेंट एसोसिएशन ने मामले की आलोचना की है। ऐसा कहा जा रहा है कि रिपोर्टर ने राष्ट्रपति से चिल्लाकर सवाल पूछा था।

ट्रम्प ने अपने समर्थकों से कहा, "मेरे अच्छे कामों का प्रचार करें। अच्छी खबर ये है कि हम शब्द निकाल सकते हैं... और जो शब्द मैं बाहर निकालता हूं वो पिछले छह महीनों में इस देश में स्टील के साथ क्या हुआ? अपने स्टील और एल्यूमीनियम टैरिफ के मामले में हम अमेरिकी मजदूरों की मदद कर रहे हैं। भले ही डेढ़ साल से ज्यादा समय से हमारी सरकार है, लेकिन बीते 6 महीनों में बड़े काम किए हैं।''

डोनाल्ड ट्रम्प और मीडिया के बीच रिश्ते कभी सामान्य नहीं रहे। चाहे उनके इलेक्शन कैंपेनिंग के दौरान हो या फिर उनके राष्ट्रपति बनने के बाद, अमेरिकी मीडिया ने लगातार ट्रम्प की नीतियों की आलोचना की है। ट्रम्प और मीडिया के बीच ये तनातनी पिछले साल जनवरी में उनके शपथ लेने के बाद ही शुरू हो गई थी। उन्होंने मीडिया पर फेक न्यूज फैलाने का आरोप लगाया था। ट्रम्प लोगों तक अपनी बात पहुंचाने के लिए ट्विटर का प्रयोग करना बेहतर समझते हैं।