बेल्जियम : जीवन यापन की बढ़ती लागत के खिलाफ बेल्जियम की ट्रेड यूनियनों का विरोध प्रदर्शन

September 22nd, 2022

हाईलाइट

  • इनमें निम्न-आय वाले परिवारों के लिए सामाजिक शुल्क का विस्तार शामिल था।

डिजिटल डेस्क, ब्रसेल्स। बेल्जियम की तीन सबसे बड़ी ट्रेड यूनियनों ने क्रय शक्ति संकट और जीवनयापन की लागत को प्रभावित करने वाली बढ़ती ऊर्जा लागत के समाधान के लिए सरकार से ठोस कदम उठाने की मांग की है। समाचार एजेंसी शिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, यह कार्रवाई बुधवार को सोशलिस्ट जनरल लेबर फेडरेशन (एफजीटीबी), कन्फेडरेशन ऑफ क्रिश्चियन ट्रेड यूनियन्स (सीएससी) और जनरल कन्फेडरेशन ऑफ लिबरल ट्रेड यूनियन्स (सीजीएसएलबी) द्वारा आयोजित एक विरोध के रूप में हुई।

एफजीटीबी के अनुसार, लगभग 10,000 लोगों ने यहां नेशनल डे ऑफ एक्शन में भाग लिया, सरकार से ऊर्जा की कीमतों को स्थिर करने और ऊर्जा कंपनियों के अतिरिक्त मुनाफे को पुनर्वितरित करने का आह्वान किया।संघीय सरकार ने ऊर्जा संकट से निपटने के लिए 16 सितंबर को उपायों की घोषणा की थी। इनमें निम्न-आय वाले परिवारों के लिए सामाजिक शुल्क का विस्तार शामिल था।

सीएससी के प्रमुख मार्क लीमन्स ने कहा, लेकिन ये उपाय पर्याप्त नहीं हैं और मुश्किल से ये नवंबर के महीने को कवर करेंगे।प्रदर्शनकारियों ने उन अनिश्चित परिस्थितियों की निंदा की जिनमें कई, विशेष रूप से कम संपन्न लोग खुद को पाते हैं।

उन्होंने बैनर लिए जिसमें लिखा था मजदूरी को छोड़कर सब कुछ बढ़ता है और जीवन की बढ़ती लागत का मुकाबला।यूनियनों ने जल्दी समाधान नहीं होने पर 9 नवंबर को एक और आम हड़ताल आयोजित करने की धमकी दी है।

 

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ bhaskarhindi.com की टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

खबरें और भी हैं...