comScore

ब्रिटेन ने नस्लवाद के खिलाफ शांतिपूर्ण संघर्ष का आग्रह किया

June 09th, 2020 18:00 IST
 ब्रिटेन ने नस्लवाद के खिलाफ शांतिपूर्ण संघर्ष का आग्रह किया

हाईलाइट

  • ब्रिटेन ने नस्लवाद के खिलाफ शांतिपूर्ण संघर्ष का आग्रह किया

लंदन, 9 जून (आईएएनएस)। ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने नस्लवाद और भेदभाव को हराने के लिए देशवासियों से शांतिपूर्ण और कानूनी तरीके से काम करने का आग्रह किया है। मंगलवार को यह जानकारी दी गई।

बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, ब्रिटेन के एकमात्र अश्वेत राष्ट्रीय साप्ताहिक समाचार पत्र द वॉइस के लिए एक लेख में जॉनसन ने लिखा कि सरकार 25 मई को अमेरिकी नागरिक जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के बाद लोगों के गुस्से और अन्याय को नकारने की भावना को नजरअंदाज नहीं कर सकती। निहत्थे अफ्रीकी-अमेरिकी फ्लॉयड की अमेरिका में पुलिस हिरासत में मौत हो गई थी।

प्रधानमंत्री ने कहा कि फ्लॉयड की मृत्यु ने गुस्से और अन्याय को नकारने की भावना को जगाया , एक ऐसी भावना जिसका सामना अश्वेत, अल्पसंख्यक जातीय समूहों के लोग शिक्षा में, रोजगार में, आपराधिक कानून के आवेदन में भेदभाव के रूप में करते हैं।

उन्होंने लिखा, हम उस भावना की गहराई को अनदेखा नहीं कर सकते हैं जो उस दृश्य को देखकर उभरा है, जिसमें एक अश्वेत शख्स पुलिस के हाथों अपनी जान गंवाते हुए नजर आ रहा है।

जॉनसन का मानना है कि ब्रिटेन 40 साल पहले की तुलना में बहुत कम नस्लवादी समाज है। प्रधानमंत्री ने कहा कि उन्होंने ब्लैक लाइव्स मैटर के प्रदर्शनकारियों को सुना है और स्वीकार किया कि सभी के साथ समान रूप से व्यवहार किया जाना सुनिश्चित करने के लिए बहुत कुछ करने की जरूरत है।

जॉनसन ने कहा, हमें स्पष्ट रूप से यह भी स्वीकार करना चाहिए कि पूर्वाग्रह को खत्म करने और अवसर पैदा करने के लिए बहुत कुछ करना बाकी है और मैं जिस सरकार का नेतृत्व करता हूं वह इस प्रयास के लिए प्रतिबद्ध है।

प्रदर्शन के दौरान सामाजिक दूरी नियमों का पालन करने वालों का प्रधानमंत्री ने आभार जताया। हालांकि, उन्होंने चेताया भी कि आगे के बड़े प्रदर्शनों ने कोरोनोवायरस महामारी को नियंत्रण में लाने के ब्रिटेन के प्रयासों को खतरे में डाल दिया है।

फलॉयड की मौत ने एक अंतर्राष्ट्रीय आक्रोश को जन्म दिया है और विश्व के कई हिस्सों की तरह ब्रिटेन के शहरों में भी बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं।

मंगलवार को देश में और प्रदर्शन हो रहे हैं, जिनमें लंदन और ऑक्सफोर्ड के प्रदर्शन शामिल हैं।

कमेंट करें
xXAWF