comScore

Coronavirus in world: ट्रंप के WHO को फंड न देने की बात पर बोखलाया चीन, कोरोना की जानकारी छिपाने से भी किया इनकार

Coronavirus in world: ट्रंप के WHO को फंड न देने की बात पर बोखलाया चीन, कोरोना की जानकारी छिपाने से भी किया इनकार

हाईलाइट

  • कोरोना के अस्तित्व को छिपाने के आरोप लग चुके हैं चीन पर
  • चीन ने किया WHO के काम का गुणगान

डिजिटल डेस्क, बीजिंग। कोरोना वायरस महामारी पर 'पर्दा डालने' के आरोपों को चीनी सरकार ने साफ तौर पर नकार दिया है। चीन ने इन आरोपों को “अनुचित और अन्यायपूर्ण“ बताया है। वहीं चीन ने WHO का बचाव किया है। चीन के विदेश मंत्रालय के एक प्रवक्ता झाओ लिजियान ने कहा कि चीन दुनिया को महामारी की जानकारी देने के मामले में 'खुला, पारदर्शी और जिम्मेदार' रहा है। इस बीच अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने विश्व स्वास्थ्य संगठन को सदस्यता शुल्क नहीं देने की घोषणा की है।

चीनी प्रवक्ता ने कहा कि इस वायरस के बारे में और ज्यादा जानकारी हासिल करने में हमें वक्त लगा, जिसका पहली बार पता पिछले साल के अंत में चीन के हुबेइ प्रांत के वुहान शहर में लगा था।  प्रवक्ता ने विश्व स्वास्थ्य संगठन का भी बचाव किया जिस पर अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने "चीन-परस्त" होने का आरोप लगाया था। 

कोरोना के अस्तित्व को छिपाने के आरोप लग चुके हैं चीन पर
समझा जाता है कि चीन ने महामारी के शुरुआती दौर में कोरोना की गंभीरता और इसके अस्तित्व को ही छिपाए रखा। बुधवार को अमरीका के विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो ने चीन पर आरोप लगाया कि वो वुहान में महामारी की गंभीरता को लेकर पारदर्शी नहीं था। गुरुवार को चीनी प्रवक्ता ने पलटवार करते हुए कहा कि ये वायरस हो सकता है कि वुहान में न जन्मा हो और हो सकता कि ये किसी भी शहर, देश या दुनिया के किसी भी इलाके से आया हो।

देश एक दूसरे की सहायता कर महामारी की रोकथाम में अपना योगदान दे सकेंगे
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा था कि महामारी की रोकथाम में विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कारगर काम नहीं किया, इसलिये अमेरिका विश्व स्वास्थ्य संगठन को सदस्यता शुल्क न देने का विचार कर रहा है। इस पर चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता चाओ लीच्येन ने 8 अप्रैल को बीजिंग में संवाददाता सम्मेलन में कहा कि इस समय विश्व में महामारी तेजी से फैल रही है। इस वक्त अमेरिका की कार्रवाई विश्व स्वास्थ्य संगठन के सामान्य संचालन पर गंभीर असर पड़ेगा, जो महामारी की रोकथाम में अंतर्राष्ट्रीय सहयोग के लिए लाभदायक नहीं है। साथ ही उन्होंने आशा जताई कि विभिन्न देश एक दूसरे की सहायता कर महामारी की रोकथाम में अपना योगदान दे सकेंगे।

चीन ने किया WHO के काम का गुणगान
चीनी प्रवक्ता चाओ लीचेन ने यह भी कहा कि कोविड-19 फैलने के बाद विश्व स्वास्थ्य संगठन ने महानिदेशक ट्रेडोस अधानोम गेब्रेयेसुस के नेतृत्व में सक्रिय रूप से अपनी जिम्मेदारी निभाई है और महामारी की रोकथाम में अंतर्राष्ट्रीय सहयोग को मजबूत करने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की, जिसे अंतर्राष्ट्रीय समुदाय की स्वीकृति और उच्च प्रशंसा प्राप्त हुई है। चीन पहले की तरह विश्व स्वास्थ्य संगठन का समर्थन देगा, और विश्व में महामारी की रोकथाम में विश्व स्वास्थ्य संगठन के नेतृत्व का समर्थन करेगा।

कमेंट करें
EJLBD