दैनिक भास्कर हिंदी: बर्ड फ्लू के H10N3 स्ट्रेन से मानव के संक्रमित होने का पहला केस मिला, चीन बोला- बड़े पैमाने पर फैलने का जोखिम बहुत कम

June 1st, 2021

हाईलाइट

  • चीन के पूर्वी जिआंगसु प्रांत में बर्ड फ्लू के H10N3 स्ट्रेन से मानव के संक्रमित होने का पहला केस
  • चीन के नेशनल हेल्थ कमीशन ने मंगलवार को इसकी जानकारी दी
  • 41 साल के मरीज की कंडीशन अभी स्टेबल है और जल्द ही उसे डिस्चार्ज किया जा सकता है

डिजिटल डेस्क, बीजिंग। चीन के पूर्वी जिआंगसु प्रांत में बर्ड फ्लू के H10N3 स्ट्रेन से मानव के संक्रमित होने का पहला केस मिला है। चीन के नेशनल हेल्थ कमीशन ने मंगलवार को इसकी जानकारी दी। 41 साल के मरीज की कंडीशन अभी स्टेबल है और जल्द ही उसे डिस्चार्ज किया जा सकता है। स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा कि पोल्ट्री से मानव में ट्रांसफर हुए इस वायरस से महामारी पैदा होने का जोखिम बेहद कम है।

नेशनल हेल्थ कमीशन ने बताया कि इस मरीज में 28 मई को H10N3 एवियन इन्फ्लूएंजा वायरस होने का पता चला था। हालांकि नेशनल हेल्थ कमीशन ने ये जानकारी नहीं दी कि ये वायरस मानव में कैसे संक्रमित हुआ। इससे पहले वैश्विक स्तर पर H10N3 से मानव संक्रमण का कोई अन्य मामला सामने नहीं आया है। कमीशन ने कहा कि H10N3 वायरस कम पैथोजनिक है और इसका बड़े पैमाने पर फैलने का जोखिम बहुत कम है।

चीन में एवियन इन्फ्लूएंजा के कई अलग-अलग स्ट्रेन हैं और कुछ छिटपुट रूप से लोगों को संक्रमित करते हैं, आमतौर पर वे जो मुर्गी पालन करते हैं। H5N8, इन्फ्लुएंजा ए वायरस (बर्ड फ्लू वायरस के रूप में भी जाना जाता है) का एक सबटाइप है। H5N8 मनुष्यों के लिए ज्यादा खतरनाक नहीं है। यह जंगली पक्षियों और मुर्गे के लिए अत्यधिक घातक है। अप्रैल में, पूर्वोत्तर चीन के शेनयांग शहर में जंगली पक्षियों में अत्यधिक पैथोजनिक H5N6 एवियन फ्लू पाया गया था।

खबरें और भी हैं...