चीन का एक्शन: नाबालिगों में टैटू के क्रेज से ड्रैगन घबराया, टैटू बनाने पर लगाया प्रतिबंध

June 7th, 2022

हाईलाइट

  • 18 साल से कम उम्र के बच्चे नहीं बनवा सकेंगे टैटू
  • टैटू बनवाने पर होगी कार्रवाई

डिजिटल डेस्क, बीजिंग। चीन में नाबालिग बच्चों के बीच बढ़ते टैटू के क्रेज को देखते हुए कम्युनिस्ट सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। सोमवार को सरकार ने नाबालिगों के टैटू बनाने पर प्रतिबंध लगा दिया है। सरकार का कहना है कि 18 साल से कम उम्र के बच्चों का टैटू बनवाना मूल समाजवादी सिद्धांत के खिलाफ है। यहां तक कि सरकार ने स्कूल और बच्चों के माता-पिता से अपील की है कि वे बच्चों को टैटू बनवाने से रोकें। चीनी सरकार ने उल्लंघन करने पर सख्त कार्रवाई के भी प्रावधान किए हैं।

टैटू आर्टिस्ट पर होगी कार्रवाई 

हिन्दुस्तान टाइम्स में छपी खबर के मुताबिक, चीनी सरकार ने कहा है कि कोई भी टैटू आर्टिस्ट अगर नाबालिग बच्चों का टैटू बनाते हुए पकड़ा गया तो उसके खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाएगी। सरकार ने ये भी कहा कि जिन बच्चों ने पहले से ही टैटू बनवा ली है और उसे अब हटाना चाहते हैं, वो डॉक्टर से परामर्श ले सकते हैं। गौरतलब है कि टैटू पर बैन का फैसला कई विभागों से सलाह के बाद लिया गया। इसके लिए कम्यूनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना के यूथ लीग से भी सलाह किया गया है। 

सरकार ने लोगों से की अपील

गौरतलब है कि नाबालिग बच्चों में बढ़ते टैटू के प्रति आकर्षण को रोकने के लिए गाइडलाइंस जारी की गई है। उसके मुताबिक, राज्य, समाज, परिवार और स्कूलों से कहा गया है कि वह नाबालिग बच्चों के समझाएं। ताकि उनके टैटू के प्रति आकर्षण खत्म हो।

सरकार ने लोगों से अपनी की है कि नाबालिगों को मूल समाजवादी मूल्यों के प्रति जागरूक करें। ताकि बच्चों को टैटू से होने वाले नुकसान के प्रति समझ आए। गौरतलब है कि चीन के आर्थिक सेंटर शंघाई में सबसे पहले 1 मार्च को 18 साल के कम उम्र के बच्चों को किसी भी तरह के कॉस्मेटिक सर्जरी और टैटू बनाने पर बैन लगा था।