comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

बांग्लादेश में हमेशा याद किए जाएंगे अटल बिहारी वाजपेयी : शेख हसीना

बांग्लादेश में हमेशा याद किए जाएंगे अटल बिहारी वाजपेयी : शेख हसीना

हाईलाइट

  • बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने गुरुवार को अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर शोक व्यक्त की।
  • हसीना ने अटल जी को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि वह भारत के महान सपूतों में से एक हैं।
  • हसीना ने कहा कि अटल जी को बांग्लादेश में भी एक सम्मानित व्यक्ति के रूप में जाना जाता है।

डिजिटल डेस्क, ढाका।  देश के पूर्व प्रधानमंत्री और भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी का आज (गुरुवार) 93 वर्ष की आयु में निधन हो गया। बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने उनके निधन पर शोक व्यक्त किया है। उन्होंने कहा कि यह बांग्लादेश के लोगों के लिए बड़ी उदासी का दिन है। हसीना ने कहा कि उन्हें अटल जी के निधन से सदमा लगा है। हसीना ने अटल जी को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि वह भारत के महान सपूतों में से एक हैं। हसीना ने कहा कि अटल जी को बांग्लादेश में भी एक सम्मानित व्यक्ति के रूप में जाना जाता है।


शेख हसीना ने भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक शोक संदेश लिखा। हसीना ने लिखा, 'यह हम सभी के लिए दुखद समय है। अटल जी भारत में सुशासन बनाए रखने के लिए किये गए योगदान के लिए जाने जाएंगे। अटल जी ने हमेशा भारत के आम लोगों को परेशान करने वाले मुद्दों पर प्रकाश डाला और लोगों के लिए जिंदगी खुशहाल बनाने के लिए काम किया। उन्होंने भारत देश में समृद्धि और शांति बनाए रखने में बहुत योगदान दिया। अटल जी को भारत के लोगों की सेवा और उनके अथक परिश्रम के लिए जाना जाएगा। वह हमेशा अभी और भविष्य में आने वाले नेताओं के लिए एक प्रेरणा स्त्रोत रहेंगे। अटल जी एक शानदार वक्ता और एक महान कवि थे। श्री वाजपेयी ने भारत में आर्थिक विकास के लिए भी काफी महत्वपूर्ण कदम उठाए।'

शेख हसीना ने साथ ही 1971 में बांग्लादेश की आजादी की लड़ाई को भी याद किया। हसीना ने कहा कि अटल जी ने बांग्लादेश की आजादी के लिए भी काफी योगदान दिया था। उन्होंने कहा, 'अटल बिहारी वाजपेयी हमारे भी करीबी मित्र थे। बांग्लादेश में भी लोग उनको बहुत सम्मान की नजर से देखते थे। 1971 में हमारे स्वतंत्रता आंदोलन के दौरान उनके अमूल्य योगदान के लिए बांग्लादेश सरकार ने उन्हें 'बांग्लादेश लिबरेशन वार ऑनर' से सम्मानित किया। आज निश्चित रूप से बांग्लादेश में हम सभी के लिए उदासी का दिन है। मेरी ओर से बांग्लादेश सरकार और यहां के लोगों की ओर से मैं भारत सरकार और भारत के शोकाकुल लोगों और उनके परिवार के सदस्यों के लिए तहे दिल से सहानुभूति व्यक्त करती हूं। हम प्रार्थना करेंगे कि उनकी आत्मा को शांति मिले।'

कमेंट करें
IbaQM