comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

करतारपुर में बोले सिद्धू, जो 72 साल में नहीं हुआ वो मोदी-इमरान ने कर दिखाया


हाईलाइट

  • गुरुद्वारा दरबार साहिब तक जाने के लिए करतारपुर कॉरिडोर खोल दिया गया
  • पाकिस्तान ने उद्घाटन समारोह के लिए नवजोत सिंह सिद्धू को भी आमंत्रित किया था
  • सिद्धू ने भारत और पाकिस्तान के प्रधानमंत्रियों को कॉरिडोर खोलने के लिए धन्यवाद दिया

डिजिटल डेस्क,नई दिल्ली। सिख समुदाय की लंबे समय से प्रतीक्षित मांग आज पूरी हो गई। पाकिस्तान में स्थित गुरुद्वारा दरबार साहिब तक जाने के लिए करतारपुर कॉरिडोर खोल दिया गया है। पाकिस्तान की ओर से कॉरिडोर के उद्घाटन समारोह के लिए पंजाब के पूर्व कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू को भी आमंत्रित किया गया था। इस  दौरान अपने संबोधन में सिद्धू ने भारत और पाकिस्तान दोनों देशों के प्रधानमंत्रियों को कॉरिडोर खोलने के लिए धन्यवाद दिया।

सिद्धू ने कहा, 'यह विभाजन के बाद पहली बार है कि सीमाओं को ध्वस्त कर दिया गया है। मेरे दोस्त इमरान खान के योगदान को कोई नकार नहीं सकता। मैं मोदी जी को भी इसके लिए धन्यवाद देता हूं। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि हमारे बीच राजनीतिक मतभेद हैं, इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि मेरा जीवन गांधी परिवार को समर्पित है। मोदी साहब को मैं इसके लिए मुन्नाभाई स्टाइल वाली झप्पी भेज रहा हूं।'

सिद्धू ने कहा, 'प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और इमरान खान ने बिना किसी नफे-नुकसान की चिंता किए वह किया जो 72 सालों में नहीं हुआ था। मोदी स‍ाहब और इमरान खान ने 14 करोड़ सिखों का दिल जीत लिया है। उनको अहसानमंद बना लिया है। मैं नवजोत सिंह सिद्धू बाबा नानक का नौकर हूं और यहां एक स्नेह व प्‍यार लेकर आया हूं।' इस दौरान सिद्धू ने इमरान से कहा, 'खान साहब मेरी बात याद रखना सिख कौम जहां व जिस मंजिल पर आपको ले जाएगा उसके बारे में आप सोच नहीं सकते।'

बता दें कि पाकिस्तान के ऐतिहासिक दरबार साहिब गुरुद्वारे तक जाने वाले करतारपुर गलियारे के जरिए भारतीय श्रद्धालुओं का पहला जत्था शनिवार को करतारपुर पहुंचा। इस जत्थे का नेतृत्व पूर्व भारतीय प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने किया। मनमोहन सिंह को करतारपुर गलियारे के उद्घाटन समारोह के लिए पाकिस्तान सरकार ने विशेष निमंत्रण भेजा था। उनके नेतृत्व में गए जत्थे में पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह भी शामिल हुए।

जीरो लाइन पर पाकिस्तान के टीवी चैनल पीटीवी से बातचीत में मनमोहन सिंह ने गलियारे को खोले जाने को एक बड़ी बात बताते हुए कहा, मुझे पूरी उम्मीद है कि इस गलियारे के खुलने से भारत और पाकिस्तान के रिश्तों में उल्लेखनीय सुधार होगा।

अमरिंदर सिंह ने कहा कि सभी खुश हैं। सिख समुदाय की बीते 70 सालों से मांग रही है कि पाकिस्तान स्थित उसके धर्मस्थलों तक समुदाय के सदस्यों को जाने दिया जाए। उन्होंने कहा, यह शुरुआत है। उम्मीद है कि यह प्रक्रिया जारी रहेगी और कई अन्य गुरुद्वारों के लिए भी इजाजत मिलेगी।

गुरुद्वारा दरबार साहिब, पाकिस्तान के करतारपुर में स्थित है, जो सिख समुदाय का दूसरा सबसे पवित्र स्थान है। यह भारत-पाकिस्तान की सीमा से केवल 4 किमी की दूरी पर है, जबकि लाहौर से ये 120 किमी दूर है। सिख यत्रियों की सुविधा के लिए, पाकिस्तान की सरकार ने 130 काउंटर स्थापित किए हैं, जहां उनके पासपोर्ट की पुष्टि या स्कैन की जाएगी, और परमिट का सत्यापन किया जाएगा।

कॉरिडोर से गुरुद्वारा दरबार साहिब जाने वाले सभी सिख तीर्थयात्रियों से सेवा शुल्क के तौर पर 20 डॉलर का भुगतान करना होगा। हालांकि, उन्हें बाबा गुरु नानक की 550 वीं जयंती के दिन शुल्क देने से छूट दी गई है। इमिग्रेशन प्रोसेस पूरी होने के बाद, तीर्थयात्री बस के माध्यम से 4 किमी लंबे कॉरिडोर के माध्यम से गुरुद्वारा पहुंचेंगे।

कमेंट करें
mrZwb
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।