दैनिक भास्कर हिंदी: UN में पाकिस्तान ने रोया कश्मीर का रोना, तो मिला कुछ यूं जवाब

September 23rd, 2017

डिजिटल डेस्क,न्यूयॉर्क। पाकिस्तान के नए नवेले प्रधानमंत्री ने शाहिद खाकान अब्बासी संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में एक बार फर कश्मीर राग अलापा। पाक ने यूएन के मंच से भारत के खिलाफ जहर उगला, अब्बासी ने भारत पर कश्मीरियों पर अत्याचार का आरोप लगाते हुए अंतर्राष्ट्रीय हस्तक्षेप की मांग की है।

कश्मीर में आतंक का खेल खेलने वाला पाकिस्तान ने अपना झूठा रोना रोते हुए कहा कि, 'भारत कश्मीर में सेना के जरिए कश्मीरियों की आवाज दबा रहा है।' 

अब्बासी ने आगे कहा कि,'भारत की दमनकारी नीतियों के सामने कश्मीरी लोग पहले की तरह आज भी संघर्ष कर रहे हैं और अपने धिकारों के लिए रोजाना सड़कों पर उतरते हैं। भारतीय जवान कश्मीरियों की आवाज को दबाने के लिए बच्चों, महिलाओं, युवाओं पर फायरिंग करते हैं। भारत की ये कार्रवाई जेनेवा कन्वेंशन का उल्लघंन है।'

भारत का पाक पर पलटवार कहा-ये पाकिस्तान नहीं 'टेररिस्तान' हैं

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में पाक पीएम अब्बासी के झूठ पर भारत ने पलटवार किया है। भारत ने कहा है कि पाकिस्तान आतंकियों का गढ़ है और दुनिया को मानवाधिकार पर पाकिस्तान के ज्ञान की जरूरत नहीं है। पाकिस्तान अपनी ही जमीन पर मानवाधिकारों का उल्लंघन करता रहा है। भारत ने ये भी कहा कि पाकिस्तान को यह समझ लेना चाहिए जम्मू कश्मीर हमारा अभिन्न हिस्सा है।

यूएन में भारत की प्रथम सचिव ईनम गंभीर ने पाकिस्तान को 'टेररिस्तान' करार देते हुए कहा कि वो लगातार आतंकियों को पनाह देता रहा है। ये देश आज पूरी तरह आतंक को पैदा कर रहा है। ये असाधारण है कि एक स्टेट जो ओसामा बिन लादेन और मुल्ला उमर को पनाह देता है, केवल पीड़ित होने का दिखावा कर रहा है।

दूसरी ओर भारत के जवाब के बाद पाकिस्तान ने अपने जवाब में सीजफायर का मामला उठाया और सीमा पर सीजफायर के उल्लंघन के लिए भारत को जिम्मेदार ठहराया।