दैनिक भास्कर हिंदी: बच गई पाकिस्तान सरकार: हंगामें के बीच प्रधानमंत्री इमरान खान ने हासिल किया विश्वास मत, विपक्ष के नेताओं पर जूते फेंके गए

March 6th, 2021

हाईलाइट

  • विश्वास मत जीतने के लिए इमरान को 172 वोटों की आवश्यकता थी
  • 340-सदस्यीय सदन में उन्हें 178 सदस्यों का समर्थन प्राप्त हुआ

डिजिटल डेस्क, इस्लामाबाद। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने शनिवार को नेशनल असेंबली अथवा निचले सदन में विश्वास मत हासिल कर सरकार की वैधता को चुनौती देने वाली विपक्ष की उम्मीदों को धराशायी कर दिया। परिणाम की घोषणा करते हुए असेंबली के स्पीकर असद कैसर ने कहा कि आठ साल पहले इमरान खान को 176 वोटों के साथ चुना गया था और आज उन्होंने 178 वोट हासिल किए हैं।

खबर में खास

  • शनिवार का सत्र दोपहर 12.15 बजे शुरू हुआ।
  • विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने उस प्रस्ताव को मंजूरी दी जिस पर मतदान हुआ।
  • अपनी सीट को बरकरार रखने के लिए इमरान को साधारण बहुमत की आवश्यकता थी।
  • असेंबली के विशेष सत्र में विश्वास मत जीतने के लिए इमरान को 172 वोटों की आवश्यकता थी।
  • 340-सदस्यीय सदन में उन्हें 178 सदस्यों का समर्थन प्राप्त हुआ।
  • डॉन की रिपोर्ट में कहा गया कि सत्र से एक दिन पहले बैठक में 179 सांसदों में से 175 ने इमरान को विश्वास दिलाया था कि वे उन्हें विश्वास मत देंगे।

विपक्ष के नेताओं पर जूते फेंके गए
इस बीच, विपक्ष के सांसदों और नेताओं पर असेंबली के बाहर जमकर हंगामा हुआ। फ्लोर टेस्ट का बायकॉट करके असेंबली के बाहर प्रदर्शन कर रहे विपक्ष के नेताओं पर जूते फेंके गए। मुस्लिम लीग की नेता मरियम नवाज को इमरान खान के समर्थकों ने हमला कर दिया। उन्हें लात और घूसे से मारा गया।

Image

इमरान ने कहा, चुनाव सुधार की ओर बढ़ रहे
विश्वास मत हासिल करने के बाद इमरान खान ने करीब 45 मिनट तक सदन को संबोधित किया। कहा,’ पाकिस्तान के विकास को कोई नहीं रोक सकता है। हम चुनाव सुधार के दिशा में भी काम कर रहे हैं। अब विदेश में रहने वाले पाकिस्तानी भी वोट कर सकेंगे। इसके अलावा अब हम इलेक्ट्रॉनिक मशीन से वोटिंग कराने पर काम कर रहे हैं। ऐसा होने पर जो हारेगा उसे अपनी हार माननी पड़ेगी।

विपक्ष ने फ्लोर टेस्ट का बायकॉट किया
असेंबली में विपक्ष के सदस्यों ने फ्लोर टेस्ट का बायकॉट किया। वोटिंग से पहले सीनेट चेयरमैन ने विपक्ष के सदस्यों को असेंबली में आने के लिए 5 मिनट का मौका दिया था, लेकिन कोई सदस्य नहीं पहुंचा। इसके बाद असेंबली के सारे दरवाजे बंद करके वोटिंग हुई। विदेश मंत्री महमूद कुरैशी ने संसद में विश्वास प्रस्ताव पेश किया था। 

पाकिस्तानी पत्रकार ने शेयर किया वीडियो
इस्लामाबाद के जर्नलिस्ट सैयद तलत हुसैन ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो शेयर किया है। इसमें कुछ लोग विपक्षी नेता से बदसलूकी करते दिख रहे हैं।

 

 

खबरें और भी हैं...