comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

भारत-युगांडा के बीच 200 मिलियन डॉलर की टू लाइन आफ क्रेडिट पर बनी सहमति, 4 MOU साइन

July 25th, 2018 00:53 IST
भारत-युगांडा के बीच 200 मिलियन डॉलर की टू लाइन आफ क्रेडिट पर बनी सहमति, 4 MOU साइन

हाईलाइट

  • युगांडा और भारत के बीच लगभग 200 मिलियन डॉलर की दो लाइन ऑफ क्रेडिट पर भी सहमति बनी है।
  • इसके अलावा मिलिट्री और आम जनता के लिए एंबुलेंस और गाड़िया भी दी जाएगी।
  • पीएम मोदी ने राष्ट्रपति मुसवेनी के दोस्ताना शब्दों और डेलिगेशन के गर्मजोशी भरे स्वागत और सम्मान के लिए आभार प्रकट किया।

डिजिटल डेस्क, एंटेबे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने पांच दिवसीय अफ्रीका महाद्वीप के दौरे पर हैं। इस दौरे के तहत रवांडा के बाद मंगलवार को पीएम युगांडा पहुंचे। यहां पर उनका गर्मजोशी से स्वागत किया गया। राष्ट्रपति योवेरी मुसेवनी की मौजूदगी में पीएम मोदी का स्वागत हुआ। इसके बाद दोनों नेताओं के बीच द्विपक्षीय और डेलिगेशन लेवल की चर्चा हुई। भारत और युगांडा के बीच रक्षा क्षेत्र, राजनयिक और आधिकारिक पासपोर्ट धारकों के लिए वीजा में छूट, सांस्कृतिक विनिमय कार्यक्रम और सामग्री परीक्षण प्रयोगशाला को लेकर चार एमओयू पर साइन किया गया। युगांडा और भारत के बीच लगभग 200 मिलियन डॉलर की दो लाइन ऑफ क्रेडिट पर भी सहमति बनी है। कम्पाला में भारतीय समुदाय को भी पीएम ने संबोधित किया। युगांडा में पीएम मोदी दो दिनों तक रहेंगे।

क्या कहा पीएम मोदी ने?
युगांडा के एंटबे में डेलिगेशन लेवल की बातचीत के बाद पीएम मोदी और राष्ट्रपति योवेरी मुसेवनी ने प्रेस स्टेटमेंट जारी किए। इस दौरान दोनों देशों के बीच डिफेंस कॉपरेशन और मटेरियल टेस्टिंग लेबोरेटरी सहित कुल चार एग्रीमेंट भी साइन हुए। पीएम मोदी ने कहा कि भारत युगांडा की विकास यात्रा में स्थाई पार्टनर बना रहेगा। उन्होंने बताया कि बैठक में विभिन्न विषयों पर चर्चा की गई है। पीएम ने कहा कि भारत सरकार ने तय किया है वह राजधानी कम्पाला में कैंसर संस्थान के लिए थैरेपी मशीन गिफ्ट करेगी। वहीं 200 मिलियन डॉलर के क्रेडिट के अलावा मिलिट्री और आम जनता के लिए एंबुलेंस और गाड़िया भी दी जाएगी। पीएम मोदी ने राष्ट्रपति मुसवेनी के दोस्ताना शब्दों और डेलिगेशन के गर्मजोशी भरे स्वागत और सम्मान के लिए आभार प्रकट किया।


क्या कहा युगांडा के राष्ट्रपति ने?
युगांडा के राष्ट्रपति मुसेवनी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भारत में कई सारे सकारात्मक बदलाव लाए हैं। उन्होंने बताया कि पीएम मोदी के साथ बातचीत के दौरान उन्होंने व्यापार, निवेश और पर्यटन में सहयोग करने की आवश्यकता पर बल दिया। मुसेवनी ने कहा कि हमारी योजना है कि पारस्परिक समृद्धि के लिए हम एक दूसरे के उत्पादों और सेवाओं को खरीदें। उन्होंने भारत सरकार की तरफ से युगांडा को दिए गए 200 मिलियन डॉलर के क्रेडिट ऑफर को बेहद शानदार प्रस्ताव बताया।

कमेंट करें
0Q37C