दैनिक भास्कर हिंदी: UN में राफेल डील पर बोले फ्रांस के राष्ट्रपति, सौदे पर हस्ताक्षर के समय मैं सत्ता से बाहर था

September 26th, 2018

हाईलाइट

  • मैक्रों इस समय संयुक्त राष्ट्र महासभा के सत्र में शामिल होने पहुंचे थे
  • डील सरकार से सरकार के बीच हुई बतचीत के आधार पर हुई थी: मैक्रों
  • मैक्रों ने कहा कि डील औद्योगिक संबंध से बढ़कर है, यह एक रणनीतिक संबंध भी है।

डिजिटल डेस्क, न्यूयॉर्क। फ्रांस के राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रों राफेल डील पर बयान दिया है। उन्होंने कहा कि जब ये डील हुई उस समय मैं सत्ता में नहीं था। मैक्रों ने कहा कि राफेल डील दो सरकारों के बीच हुई है। मैक्रों इस समय संयुक्त राष्ट्र महासभा के सत्र में शामिल होने पहुंचे थे। फ्रांस के राष्ट्रपति से प्रश्न किया गया कि क्या दिग्गज एयरोस्पेस कंपनी दसाल्ट से कहा गया था कि उन्हें राफेल डील के लिए रिलायंस को ही चुनना है?


 
पत्रकारों से बात करते हुए मंगलवार को मैक्रों ने कहा कि मैं साफ-साफ कहना चाहता हूं कि यह डील सरकार से सरकार के बीच हुई बतचीत के आधार पर हुई थी। मैं उस बात की तरफ सबका ध्यान आकर्षित करना चाहता हूं, जो भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कही थी। राफेल मामले में मै और कोई टिप्पणी नहीं करना चाहता हूं। इसका एक कारण यह भी है कि मैं उस वक्त पद पर नहीं था। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि राफेल डील में हुआ अनुबंध एक व्यापक ढांचे का हिस्सा है, जो फ्रांस और भारत के बीच रक्षा एवं सैन्य गठबंधन को लेकर है। मैक्रों ने कहा कि यह बेहद अहम है। यह डील एक औद्योगिक संबंध से बढ़कर है, राफेल डील एक रणनीतिक संबंध भी है।

 

खबरें और भी हैं...