comScore

पाकिस्तान: इंडियन हाईकमीशन के दो ऑफिसर अरेस्ट, भारत ने कहा- अफसरों को तुरंत दूतावास भेजा जाए

June 15th, 2020 19:10 IST

हाईलाइट

  • इस्लामाबाद में भारतीय उच्चायोग के दो अधिकारी गिरफ्तार

डिजिटल डेस्क, इस्लामाबाद। पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद स्थित भारतीय उच्चायोग में कार्यरत दो अधिकारियों के लापता होने के बाद अब उनकी गिरफ्तारी की खबर है। इस खबर के आने के बाद भारत ने पाकिस्तानी हाईकमीशन को समन भेजा। इस विरोध पत्र में पाकिस्तान से कहा गया है कि गिरफ्तार किए गए अफसरों से किसी तरह की पूछताछ की जाए और अफसरों को तुरंत उनकी कार समेत भारतीय दूतावास भेजा जाए। इन अफसरों की सुरक्षा की जिम्मेदारी पाकिस्तान की है।

सुबह 08.30 बजे आई थी अफसरों के लापता होने की खबर
सोमवार सुबह करीब 8.30 बजे इस्लामाबाद स्थित भारतीय दूतावास के दो अफसरों के लापता होने की खबर आई थी। इसके बाद भारतीय विदेश मंत्रालय ने पाकिस्तान से इन दोनों अफसरों का फौरन पता लगाने को कहा। शाम को इन अफसरों के हिट एंड रन मामले में इस्लामाबाद में गिरफ्तार होने की खबर आई। जियो न्यूज ने कुछ चश्मदीदों के हवाले से खबर दी कि बीएमडब्ल्यू कार ने एक पैदल यात्री को टक्कर मार दी और भागने का प्रयास किया। पैदल यात्री गंभीर रूप से घायल हो गया और उसे इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया। कार को भीड़ ने रोका और दोनों लोगों को इस्लामाबाद पुलिस को सौंप दिया। इसके बाद उन्हें गिरफ्तार किया गया, पुलिस ने पाया कि दोनों व्यक्ति भारतीय उच्चायोग के अधिकारी थे।

भारतीय राजनचिक को परेशान करना नई बात नहीं
कुछ दिन पहले आईएसआई एजेंट्स ने भारतीय राजनयिक गौरव अहलूवालिया की कार का पीछा किया था। भारत ने इसके खिलाफ कड़ा विरोध दर्ज कराते हुए पाकिस्तान को डिप्लोमेटिक नोट दिया था। इसमें कहा गया था कि मार्च से अब तक भारतीय राजनयिकों को परेशान या पीछा करने की 13 घटनाएं सामने आ चुकी हैं। भारत ने चेतावनी दी थी कि पाकिस्तान में यह सिलसिला फौरन रुकना चाहिए।  

पाकिस्तानी जासूस गिरफ्तार हुए थे
इससे पहले मिलिट्री इंटेलिजेंस और दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल के जॉइंट ऑपरेशन में तीनों स्टाफ मेंबरों को पकड़ा था। इनमें दो वीजा अधिकारी और एक ड्राइवर है।दोनों वीजा ऑफिसर आबिद हुसैन और महोम्मद ताहिर पाकिस्तान की जासूसी एजेंसी ISI के अधिकारी है। जासूसी का शक होने के बाद से लंबे समय से इन ऑफिसर्स पर नजर रखी जा रही थी।42 वर्षीय आबिद हुसैन पाकिस्तान के पंजाब प्रांत स्थित शेखपुरा जिला जबकि 44 वर्षीय मोहम्मद ताहिर इस्लामाबाद का रहने वाला है। दोनों दिल्ली की सड़कों पर खुलेआम घूमते थे और जासूसी करते थे, लेकिन फर्जी आईडी बनाकर खुद को भारतीय बताते थे। 

कमेंट करें
vHnkg