comScore

उत्तर प्रदेश: पत्रकारों से मारपीट के मामले में अखिलेश यादव सहित 21 लोगों पर मुरादाबाद में केस दर्ज

उत्तर प्रदेश: पत्रकारों से मारपीट के मामले में अखिलेश यादव सहित 21 लोगों पर मुरादाबाद में केस दर्ज

हाईलाइट

  • व्यक्तिगत सवाल पूछने पर हुआ था विवाद
  • सपा जिलाध्यक्ष ने भी की शिकायत

डिजिटल डेस्क, मुरादाबाद। पत्रकारों से मारपीट के मामले में उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव सहित 21 लोगों के खिलाफ मुरादाबाद के पाकबड़ा थाने में FIR दर्ज की गई है। इंडियन प्रेस एलाइवनेस एसोशिएशन के अध्यक्ष डॉ. अवधेश पराशर ने IPC की धारा 147 (दंगा), 342 (गलत तरीके से रोकना), और 323 (चोट पहुंचाने) के तहत मामला दर्ज करवाया है। वहीं दूसरी ओर सपा जिलाध्यक्ष ने भी दो पत्रकारों के खिलाफ FIR दर्ज कराई है। बता दें कि 11 मार्च को मुरादाबाद के एक होटल में अखिलेश की प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान पत्रकारों से मारपीट की घटना हुई थी।

पत्रकारों का पक्ष: व्यक्तिगत सवाल पूछने पर हुआ था विवाद

  • इंडियन प्रेस एलाईवनेस एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष अवधेश पाराशर ने पाकबड़ा पुलिस को बताया कि पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव व उनके कार्यकर्ता 11 मार्च की शाम मुरादाबाद के दिल्ली रोड स्थित होली डे रेजीडेंसी होटल में थे। पूर्व मुख्यमंत्री प्रेसवार्ता कर रहे थे। प्रेस कान्फ्रेंस खत्म होने के बाद होटल की लाॅबी में कुछ पत्रकारों ने अखिलेश यादव से कुछ व्यक्तिगत सवाल पूछा।
  • इस पर मुख्यमंत्री नाराज हाे गए। तब अखिलेश यादव ने अपने सुरक्षा कर्मियों व पार्टी कार्यकर्ताओं को पत्रकारों पर हमला करने के लिए उकसाया। इसके बाद पूर्व मुख्यमंत्री के सुरक्षाकर्मी व सपा कार्यकर्ता मीडियाकर्मियों पर टूट पड़े। उन्होंने मीडियाकर्मियों को दौड़ा कर पीटा। इसमें कई पत्रकारों को गंभीर चोटें आईं। घायल पत्रकारों का उपचार अस्पताल में चल रहा है।
  • घटना के बाद पत्रकारों ने मुरादाबाद के एसएसपी को अखिलेश यादव के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के लिए एक प्रार्थना पत्र दिया था। इसके बाद हमले की जांच के आदेश मुरादाबाद मंडल के कमिश्नर आंजनेय कुमार सिंह ने पुलिस को दे दिए थे।

सपा का पक्ष: जिलाध्यक्ष ने भी की शिकायत

  • उधर, सपा के जिलाध्यक्ष जय वीर सिंह यादव की तहरीर पर मीडियाकर्मी फरीद शम्सी और उवैद उर्रहमान के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज किया गया है। जिसमें सपा जिला अध्यक्ष ने आरोप लगाया है कि खुद को पत्रकार बताने वाले दो व्यक्तियों ने पूर्व मुख्यमंत्री का सुरक्षा घेरा तोड़कर अंदर घुसने की कोशिश की, जब उन्हें सुरक्षा गार्डों ने रोका तो उनके साथ मारपीट की गई। 
  • इसके बाद फरीद खुद जमीन पर गिर गए और बेहोश होने का नाटक करने लगे। पुलिस अधीक्षक नगर अमित आनंद ने बताया कि दोनों ओर से केस दर्ज कर किए गए हैं। पूरे प्रकरण की जांच की जा रही है। होटल के सीसीटीवी कैमरे की फुटेज भी कब्जे में ली गई है।
कमेंट करें
aUYDk