गुरुग्राम: ओमिक्रॉन के डर से 6 स्टार रेटिंग वाला गांव वजीरपुर अलर्ट पर

December 25th, 2021

हाईलाइट

  • वजीरपुर गुरुग्राम के उन गांवों में से एक है, जहां अब तक कोई भी कोविड केस सामने नहीं आया है

डिजिटल डेस्क, गुरुग्राम। गुरुग्राम जिले का 6-स्टार रेटिंग वाला गांव वजीरपुर कोरोना वायरस के नए ओमिक्रॉन वैरिएंट को लेकर बढ़ती आशंकाओं के बीच हाई अलर्ट पर है।

ग्राम प्रधान (सरपंच) ने ग्रामीणों और प्रवासी कामगारों को सभी आवश्यक निर्देश जारी किए हैं कि वे खुद को कोविड-19 वैक्सीन की दोनों खुराकें लगवा लें।

वजीरपुर गुरुग्राम के उन गांवों में से एक है, जहां अब तक कोई भी कोविड केस सामने नहीं आया है।

वजीरपुर गांव के सरपंच शेर सिंह चौहान ने कहा कि गांव की आबादी करीब 3,500 है और उनके गांव की 100 फीसदी आबादी का टीकाकरण किया जा चुका है।

चौहान ने आईएएनएस से कहा, बिहार, उत्तर प्रदेश और अन्य राज्यों के कई लोग किराए पर रहते हैं। उनकी सुविधा के लिए, ग्राम पंचायत ने समय-समय पर कोविड -19 शिविरों का आयोजन किया है।

चौहान ने कहा कि श्रमिकों के टीकाकरण के लिए उन्होंने कंपनी के मालिकों से संपर्क किया है कि वे अपने कर्मचारियों का डेटा साझा करें।

वजीरपुर एकमात्र ऐसी ग्राम पंचायत है, जिसे स्वच्छता, कानून व्यवस्था की स्थिति, लड़कियों की शिक्षा, लिंगानुपात आदि सुविधाओं के लिए हरियाणा सरकार से 6 स्टार मिले हैं।

चौहान ने कहा, ओमिक्रॉन खतरे के बीच, मैंने ग्रामीणों और प्रवासी कामगारों के बीच सख्त निर्देश दिए हैं कि कोविड शिविरों के बावजूद, अगर कोई बिना कोविड की खुराक के गांव में पाया जाता है, तो उसे गांव से निकाल दिया जाएगा।

चौहान ने कहा, ग्रामीणों और प्रवासी श्रमिकों को गांव में टीकाकरण शिविर के बारे में सूचित करने के लिए, हम मुनादी (घोषणा) कराते थे। साथ ही, निवासियों के लिए सार्वजनिक स्थानों पर मास्क पहनना और सामाजिक दूरी के नियमों का पालन करना अनिवार्य कर दिया गया है।

 

(आईएएनएस)