दैनिक भास्कर हिंदी: NRC पर बढ़ा बवाल, असम के एयरपोर्ट पर हिरासत में लिए गए TMC के 6 सांसद

August 2nd, 2018

हाईलाइट

  • तृणमूल कांग्रेस (TMC) के 6 सांसदों और दो विधायकों को गुरुवार को असम के सिलचर एयरपोर्ट से हिरासत में लिया गया है।
  • NRC को लेकर TMC के 8 नेताओं का एक डेलिगेशन असम में एक सभा करने जा रहा था।
  • तृणमूल नेताओं का कहना है कि वे शांतिपूर्ण प्रदर्शन करना चाहते थे लेकिन उन्हें जबरन हिरासत में लिया गया।

डिजिटल डेस्क, गुवाहाटी। तृणमूल कांग्रेस (TMC) के 6 सांसदों और दो विधायकों को गुरुवार को असम के सिलचर एयरपोर्ट से हिरासत में लिया गया है। नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजन (NRC) को लेकर TMC के 8 नेताओं का एक डेलिगेशन असम में एक सभा करने जा रहा था। तृणमूल नेताओं का कहना है कि वे शांतिपूर्ण प्रदर्शन करना चाहते थे लेकिन उन्हें जबरन हिरासत में लिया गया। वे एयरपोर्ट छोड़कर नहीं जाएंगे।

 


 

क्या कहा ममता बनर्जी ने?
ममता बनर्जी ने कहा कि ये क्रूरता है, इसका निंदा करनी चाहिए। यह बीजेपी के अंत की शुरुआत है। मुझे लगता है कि वे निराश हैं और राजनीतिक रूप से दबाव में है और चिंताग्रस्त हैं। यही कारण है कि वे अपना बाहुबल दिखा रहे हैं।
 

 

क्या कहा डेरेक ओ ब्रायन ने?
टीएमसी सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने कहा कि हमारे नेताओं के साथ बदसलूकी की गई है। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा, 'हमारे सांसदों को बलपूर्वक हिरासत में लिया गया, उन्होंने किसी कानून का उल्लंघन नहीं किया है। हिरासत में लेने से पहले हमारे नेताओं को कोई नोटिस भी नहीं दिया गया। लोगों से मिलना हमारा लोकतांत्रिक अधिकार है, ये एक सुपर इमरजेंसी जैसी स्थिति है। तृणमूल ने इस मामले को संसद में भी उठाया है और सरकार से जवाब मांगा है। ब्रायन ने कहा कि टीएमसी ने नोटिस देकर केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह से इस मुद्दे पर जवाब मांगा है लेकिन वह आए नहीं।

 


क्या कहा सुखेंदु रॉय ने?
टीएमसी नेता सुखेंदु रॉय ने बताया कि पुलिस ने उनके पहुंचने के बाद हवाई अड्डे पर उन्हें यह कहकर रोक दिया कि उनकी यात्रा से समस्या खड़ी हो सकती है। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि बराक घाटी क्षेत्र के कछार जिले में यहां कुंभीग्राम हवाई अड्डे पर तृणमूल डेलिगेशन वीआईपी विश्रामालय में रूका है। बता दें कि असम की बाराक घाटी और सिलचर में पहले से ही धारा 144 लागू है। हिरासत में लिए गए डेलिगेशन में सुखेंदु शेखर राय, ककोली घोष दस्तीदार, रत्न दे नाग, नदीमुल हक, अर्पित घोष और ममता ठाकुर और फिरहद हकीम शामिल हैं।