दैनिक भास्कर हिंदी: एनकाउंटर करने गई थी पुलिस, 8 साल के मासूम की फायरिंग में मौत

September 6th, 2018

डिजिटल डेस्क, मथुरा। यूपी के मथुरा में एक मुठभेड़ के दौरान 8 साल के बच्चे को गोली लग गई। बताया जा रहा है कि पुलिस ने बदमाशों को पकड़ने के लिए फायर किया था, लेकिन ये गोली बच्चे के सिर में जा लगी। गोली लगने के बाद गंभीर हालत में बच्चे को अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। इस एनकाउंटर की कार्रवाई के बाद मथुरा पुलिस पर तमाम तरह के सवाल खड़े हो रहे है। परिजन पुलिस पर उनके बेटे की हत्या करने का आरोप लगा रहे है। वहीं जानकारी मिलने के बाद यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने 5 लाख रुपए के मुआवजे का ऐलान किया है। 

अखिलेश ने जताया दुख

इस घटना के बाद यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने ट्वीट कर दुख जताया, साथ ही दोषियों पर सख़्त से सख़्त कार्रवाई और अभिभावकों को 50 लाख रु. देने की सरकार से अपील की।

बदमाश भागा, बच्चे को लगी गोली

ये मामला थाना रिफायनरी के मोहनपुरा गांव का है जहां पर पुलिस को बदमाशों के छिपे होने की सूचना मिली थी। पुलिस ने सूचना के आधार पर टीम बनाकर इलाके में दबिश दी। बताया जा रहा है कि इस दौरान बदमाशों ने पुलिस पर फायरिंग की और वहां से चकमा देकर भाग गए। इस दौरान पुलिस की ओर से भी जवाबी फायरिंग की गई, लेकिन गोली बदमाशों की जगह 8 साल के बच्चे माधव भारद्वाज को लग गई।  सूचना म‍िलते ही ग्रामीण और पर‍िजन मौके पर पहुंचे। बच्चे के स‍िर में गोली लगी थी। आनन-फानन में उसे हॉस्प‍िटल ले गए, जहां डॉक्टरों ने मृत घोष‍ित कर द‍िया। 

5 लाख का मुआवजा

अपर पुलिस अधीक्षक श्रवण कुमार सिंह ने घटना की पुष्टि करते हुए बताया कि अभी यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि बच्चे को किसकी (पुलिस या बदमाशों की) गोली लगी थी। मृत बच्चा अड़ूकी के ही पीसीपीएस बाल विद्या मंदिर स्कूल में नर्सरी का छात्र था। माधव की मौत पर राज्य के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने शोक व्यक्त किया है। उन्होंने परिजनों को 5 लाख मुआवजा देने और जिम्मेदार के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का निर्देश दिया है।

पुलिस की लापरवाही का शिकार

वहीं  बच्चे की मां लक्ष्मी ने कहा कि, ''मेरे बेटे को पुल‍िस वालों ने ही मार द‍िया। मैंने मौके पर कोई डकैत नहीं देखा। 3 भाई और 1 बहन में माधव दूसरे नंबर पर था और नर्सरी में पढ़ता था। पिता एक कार एजेंसी में सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी कर उसे किसी तरह पढ़ा रहे थे, लेकि‍न मेरा बेटा पुल‍िस की लापरवाही का श‍िकार हो गया।''

अब तक 921 एनकांउटर

यूपी पुलिस ने पिछले साल नई सरकार के सत्ता में आने के बाद 921 एनकाउंटर किए। 20 मार्च से 31 दिसंबर तक कुल 921 एनकाउंटर में 29 अपराधियों की मौत हुई है, जबकि 2214 अपराधी गिरफ्तार हुए हैं। इन एनकाउंटर में 196 कथित अपराधी घायल हुए हैं, जबकि 210 पुलिसकर्मी भी घायल हुए हैं और 3 पुलिसकर्मी मारे गए हैं। जिन अपराधियों को गिरफ्तार किया गया है उनमे से 1688 पर पुलिस ने इनाम रखा था।