• Dainik Bhaskar Hindi
  • National
  • Admiral R Hari Kumar appointed as the new Navy Chief, said will do everything possible to protect the maritime borders

पश्चिमी कमान के कमांडिंग एन चीफ : एडमिरल आर हरि कुमार बने नए नौसेना चीफ, कहा समुद्री सीमाओं की सुरक्षा के लिए हर संभव करेंगे  प्रयास

November 30th, 2021

हाईलाइट

  • नए नौसेना चीफ ने कई लड़ाकू विमानों की कमांड संभाली

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने वाइस एडमिरल आर हरि कुमार को अगले नौसेना प्रमुख के रूप में नियुक्त किया। हरि कुमार पहले नौसेना की पश्चिमी कमान के कमांडिंग चीफ के पद पर कार्यरत। आज नए नौसेना प्रमुख एडमिरल आर हरि कुमार ने भारतीय नौसेना के नए प्रमुख का पदभार संभाला लिया है। 

4 दशक से नौसेना में सेवाएं दे रहे हैं हरि कुमार।1962 में जन्में एडमिरल हरि कुमार ने 1983 में भारतीय नौसेना ज्वाइन की थी।अपने इतने सालों के लंबे करियर में उन्होंने कई लड़ाकू विमानों की कमांड संभाली है। हरि कुमार नौसेना की पश्चिमी कमान के जंगी बेड़े के फ्लीट ऑपरेशन्स ऑफिसर के पद पर अपनी सेवाएं दे चुके हैं। पश्चिमी कमान के सीएनसी के पद से पहले हरि कुमार दिल्ली में सीडीएस जनरल बिपिन रावत के अंतर्गत इंटीग्रेटेड डिफेंस स्टाफ के प्रमुख पद पर रह चुके है। 

निवर्तमान नौसेनाध्यक्ष एडमिरल करमबीर सिंह ने एडमिरल आर हरि कुमार को भारतीय नौसेना की कमान सौंप दी है। नौसेना की कमान संभालने के बाद एडमिरल आर हरिकुमार ने अपनी मां श्रीमती विजय लक्ष्मी के पैर छूकर आशीर्वाद लिया और उन्हें गले लगाया। पदभार संभालने के बाद  नौसेना प्रमुख एडमिरल आर हरि कुमार ने कहा कि समुद्री सीमाओं की सुरक्षा के लिए वो हर संभव  प्रयास करेंगे। आपको बता दें एडमिरल आर हरि कुमार को परम विशिष्ट, अति विशिष्ट सेवा मेडल से सम्मानित किया जा चुका है। नौसेना के एयरक्राफ्ट कैरियर को कमांड किया है। आईएनएस विराट के कमांडिंग ऑफिसर रह चुके हैं। आईएनएस कोरा, निशंक और रणवीर युद्धपोतों को कमांड किया है। पश्चिमी कमान के जंगी बेड़े में सेवाएं दे चुके हैं। 

एडमिरल आर हरि कुमार ने कहा एडमिरल करमबीर सिंह आज 41 साल की देश सेवा के बाद रिटायर हो रहे हैं। उनके नेतृत्व और मार्गदर्शन के लिए भारतीय नौसेना हमेशा उनकी आभारी रहेंगी। वहीं निवर्तमान नौसेना प्रमुख एडमिरल करमबीर सिंह ने कहा बीते 30 महीनों के दौरान भारतीय नौसेना की कमान संभालना बड़ा सम्मान रहा।  यह समय चुनौतियों भरा रहा है। कोविड समस्या से लेकर गलवान संकट तक अनेक चुनौतियां सामने आई। एक बहुत योग्य कुशल नेतृत्व के हाथ में आज नौसेना को सौंप रहा हूं। 

 

खबरें और भी हैं...