comScore

आगरा: फुटपाथ पर सो रहे 9 लोगों पर कंटेनर चढ़ा, 6 की मौत, 3 की हालत नाजुक 

आगरा: फुटपाथ पर सो रहे 9 लोगों पर कंटेनर चढ़ा, 6 की मौत, 3 की हालत नाजुक 

हाईलाइट

  • सिंकदरा इलाके में गुरुद्वारे के पास मंगलवार रात हादसा हुआ
  • मारे गए लोग कबाड़ बीनने वाले थे, फुटपाथ पर सो रहे थे

डिजिटल डेस्क, आगरा। उत्तरप्रदेश के आगरा जिले में मंगलवार रात भीषण हादसा हो गया। यहां सिकंदरा क्षेत्र में गुरुद्वारे के पास दुकानों के सामने फुटपाथ पर सो रहे नौ लोगों पर अनियंत्रित कंटनर चढ़ गया। इस हादसे में 5 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि 1 की मौत अस्पताल में इलाज के दौरान हुई और 3 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर घायलों को एसएन इमरजेंसी अस्पताल में भर्ती कराया है, जहां उनका उपचार जारी है। बताया जा रहा है कि दोनों घायलों की हालत नाजुक बनी हुई है। 

घायलों में एक आवास विकास कॉलोनी सेक्टर 16 और दूसरा शाहगंज का रहने वाला है। वहीं पुलिस ने मामले में कंटेनर चालक और क्लीनर को गिरफ्तार कर लिया है। हादसे की वजह झपकी आना बताया जा रहा है। झपकी आने से ड्राइवर का हाथ स्टेयरिंग से फिसल गया था। इसके अलावा घटना में मारे गए लोगों की शिनाख्ती नहीं हो सकी है। पुलिस उनके बारे में पता कर रही है। घटना रात करीब 2 बजे की है। 

प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया तेज रफ्तार था कंटेनर
हादसे के वक्त घटना स्थल पर मौजूद काले, सुरेंद्र और मुकेश ने बताया कि वे हाईवे से निकल रहे थे। तभी ट्रांसपोर्ट नगर से एक तेज रफ्तार कंटेनर आया और घुमावदार मोड़ होने की वजह से सीधा दुकानों के पास नाले की पटिया पर सो रहे लोगों पर चढ़ गया। उन्होंने बताया कि ड्राइवर ने हादसे के बाद भी ब्रेक नहीं लगाए थे। करीब 25 मीटर तक जाने के बाद कंटेनर की स्पीड कम हुई। हादसे में दो खम्भे भी टूट गए। उस समय पटिया पर 50-60 लोग सो रहे थे। 

हादसे के बाद चालक कन्टेनर को सिकंदरा की ओर ले गया। उस समय पुलिस मौजूद थी। चीता मोबाइल के दो सिपाहियों ने कंटेनर का पीछा किया और कंटेनर को रुकवाकर ड्राइवर और क्लीनर को गिरफ्तार किया। वहीं हादसे के करीब पांच मिनट बाद ही कई गाड़ियों से पुलिस पहुंच गई। लहूलुहान पड़े लोगों को वहां से अपनी गाड़ियों में ही एसएन इमरजेंसी पहुंचाया। 
 
हादसे से दो मिनट पहले शौच के लिए गया और बच गई जान
प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि जिस जगह पर हादसा हुआ, उससे तकरीबन ढाई सौ मीटर दूर तक लोग हाईवे के किनारे सोते हैं। इससे हर समय हादसे की आशंका बनी रहती है। रात को हुए हादसे के बाद यह लोग दहशत में आ गए। वहां से चले गए। अगर, कन्टेनर ज्यादा आगे और बढ़ता तो यह लोग भी चपेट में आ सकते थे। दुर्घटनास्थल पर ही दो अन्य युवक भी सो रहे थे। इनमें से एक हादसे का शिकार हुए लोगों के पास ही था। वह बच गया। जबकि दूसरा हादसे से दो मिनट पहले ही शौच के लिए चला गया और बच गया।

मौके पर ही मरने वालों की नहीं हो सकी शिनाख्त
हादसे में पांच लोगों की मौके ही मौत हो गई। दो घायलों को इमरजेंसी में भर्ती कर लिया। घायलों में शाहगंज के भोगीपुरा निवासी सुनील की इलाज के दौरान मौत हो गई, जबकि दूसरे घायल जगदीशपुरा के गढ़ी भदौरिया निवासी नितिन शर्मा का अभी इमरजेंसी में उपचार चल रहा है। पांच मृतकों की अभी शिनाख्त नहीं हो सकी है। 

एक मृतक की शिनाख्त
थाना प्रभारी अरविंद कुमार ने बताया कि, मृतकों में एक नितिन नाम के शख्स की शिनाख्त हुई है। वह जगदीशपुरा का रहने वाला है। हादसे के बाद भाग रहे ट्रक ड्राइवर मुनेश और क्लीनर चिंटू को हिरासत में लिया गया है। पूछताछ जारी है। ट्रक चालक और क्लीनर के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज किया जा रहा है।

कमेंट करें
O6hEL