दैनिक भास्कर हिंदी: 2019 का लोकसभा चुनाव लड़ने की तैयारी में अखिलेश यादव

May 29th, 2018

डिजिटल डेस्क, लखनऊ। उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने 2019 में होने वाले लोकसभा चुनावों के लिए कमर कस ली है। उन्होंने एक कार्यक्रम के दौरान आगामी लोकसभा चुनाव लड़ने का ऐलान किया। साथ ही आने वाले सभी चुनाव बैलेट पेपर से कराने की मांग भी की। उन्होंने इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन पर भी कई सवाल उठाते हुए सरकार को घेरा। समाजवादी पार्टी प्रमुख के लोकसभा चुनाव लड़ने की घोषणा ने राजनैतिक गलियारों में हलचल बढ़ा दी है।

कन्नौज से लड़ सकते हैं चुनाव
तीन बार के लोकसभा सांसद रह चुके अखिलेश यादव, फिर एक बार लोकसभा में काबिज होने के लिए तैयार हैं। अखिलेश इससे पहले जनवरी में भी जनेश्वर मिश्र की पुण्यतिथि के दौरान अपनी चुनाव लड़ने की मंशा जाहिर कर चुके हैं। राजनीतिक जानकारों के अनुसार सपा प्रमुख अखिलेश यादव कन्नौज सीट से चुनाव लड़ सकते हैं। बता दें कि वर्तमान में इस सीट से उनकी पत्नी डिम्पल यादव सांसद हैं। अखिलेश अभी उत्तर प्रदेश विधान परिषद के सदस्य हैं। 

EVM पर उठाए सवाल, बैलेट पेपर से चुनाव की मांग
कैराना चुनाव में हुए EVM मशीन विवाद के बाद अखिलेश यादव ने लखनऊ में प्रेस कांफ्रेंस की, इस कांफ्रेंस के दौरान अखिलेश ने भाजपा और EVM मशीन पर जमकर हमला बोला।

उत्तर प्रदेश विधान परिषद के सदस्य अखिलेश यादव ने EVM मशीन की सत्यता पर सवाल उठाते हुए आने वाले चुनावों में बैलेट पेपर के इस्तेमाल की बात कही। अखिलेश ने कहा कि EVM मशीन लोकतंत्र के लिए खतरा है और लोकतंत्र को मजबूत बनाने के लिए बैलेट पेपर से चुनाव कराये जाने चाहिए। उन्होंने केंद्र में सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी पर आरोप लगते हुए कहा कि 'जहां जीतने की उम्मीद कम थी, वहीं मशीनें खराब हुई हैं, EVM मशीन की खराबी बीजेपी की सोची समझी चुनावी साजिश थी, लेकिन मुझे खुशी है कि जनता ने भाजपा के खिलाफ मतदान किया है'। हालांकि चुनाव आयोग ने यह साफ किया है कि तेज गर्मी के कारण EVM मशीनें खराब हुई हैं।