दैनिक भास्कर हिंदी: शिवसेना पर शाह का निशाना- गठबंधन नहीं हुआ तो पूर्व सहयोगियों को हराएंगे

January 7th, 2019

हाईलाइट

  • बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह का शिवसेना पर निशाना
  • गठबंधन होता है तो पार्टी अपने सहयोगी दलों की जीत सुनिश्चित करेगी-शाह
  • गठबंधन नहीं हुआ तो पूर्व सहयोगियों को हराएंगे- शाह

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव 2019 को लेकर मचे सियासी घमासन के बीच बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने गठबंधन को लेकर चेतावनी दी है। शाह ने कहा, यदि गठबंधन होता है तो पार्टी अपने सहयोगी दलों की जीत सुनिश्चित करेगी और यदि ऐसा नहीं होता है तो पार्टी आगामी लोकसभा चुनावों में अपने पूर्व सहयोगियों को करारी शिकस्त देगी। शाह के इस बयान के बाद शिवसेना ने कहा कि बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह का बयान घमंड भरा है। उनके पक्ष का पर्दाफाश हो गया है। पार्टी ने कहा कि उसे जो भी चुनौती देगा, उसका सामना करने को वह तैयार है। ये बीजेपी का घमंड है जो चुनाव से पहले सामने आ गया। 

अमित शाह के बयान को लेकर उद्धव ठाकरे ने कहा, राममंदिर देश के हिन्दू के लिए सर्वोपरि है। हमनें हिंदू के मन की भावना सामने रखी थी और नारा दिया था कि हर हिंदू की यही पुकार पहले मंदिर फिर सरकार। शिवसेना की वजह से बीजेपी के पैर के नीचे की जमीन खिसक गई है। उन्हें ये बात लग गयी और अब उनके नेताओं की जबान भी फिसलने लगी है। शिवसेना ने कहा, अच्छा ही हुआ बीजेपी को हिंदुत्व मानने वाले नहीं चाहिए ऐसा दिखता है, पांच राज्यों के चुनाव परिणाम के बाद बीजेपी को जनता ने उनकी जगह दिखाने की शुरुआत कर दी है।

शाह गठबंधन को लेकर ये बात साफ कर चुके हैं कि बीजेपी शिवसेना का साथ तो चाहती है, लेकिन ज्यादा दबाव झेलने को वह तैयार नहीं है। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने महाराष्ट्र की प्रदेश इकाई से कहा है कि वह दोनों विकल्पों के लिए तैयार रहे। मतलब यदि शिवसेना साथ आती है तो ठीक अन्यथा अकेले चुनाव लड़ने को भी तैयार रहें। बीजेपी की योजना 40 सीट जीतने की है। इसका मतलब है कि वह ईवीएम में छेड़छाड़ करने पर निर्भर है। शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के एक सहयोगी ने कहा, जो हम पर हमला कर रहे हैं, हम निश्चित तौर पर उन्हें हराएंगे।