दैनिक भास्कर हिंदी: पाक ड्रोन्स की घुसपैठ के बाद बढ़ाई गई सतर्कता, बॉर्डर पर रेड अलर्ट

September 26th, 2019

हाईलाइट

  • पाकिस्तानी ड्रोन की घुसपैठ का खुलासा होने के बाद सेना ने रेड अलर्ट जारी किया है
  • जवानों और ऑबजर्वेशन पोस्ट को बॉर्डर पर बाज की तरह नजर' रखने के लिए कहा गया है
  • पेट्रोलिंग टीमों और निगरानी पोस्टों को घुसपैठ करने वाले ड्रोनों को मार गिराने के आदेश

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। पाकिस्तान के ड्रोन का इस्तेमाल कर पंजाब में हथियार एयरड्रोप करने का खुलासा होने के बाद भारतीय सेना ने रेड अलर्ट जारी किया है। सीमा की निगरानी कर रहे जवानों और ऑबजर्वेशन पोस्ट को भविष्य में इसी तरह के हवाई घुसपैठ पर 'बाज की तरह नजर' रखने के लिए कहा गया है।

बता दें कि जीपीएस लगे और 10 किलोग्राम तक का वजन उठा सकने वाले ड्रोन विमानों ने पाकिस्तान से करीब सात-आठ बार आकर भारत में एके-47 राइफलें, पिस्तौल और हथगोले गिराए जो पंजाब के तरनतारन जिले में बरामद किए गए।

आर्मी और बीएसएफ के अधिकारियों ने कहा कि सैनिकों और ऑबजर्वेशन पोस्ट को राज्य के जम्मू, सांबा, कठुआ, राजौरी, पुंछ और बारामूला, कुपवाड़ा जिलों में अंतर्राष्ट्रीय सीमा और नियंत्रण रेखा पर अतरिक्त सतर्कता बरतने के लिए कहा गया है।

बीएसएफ अधिकारियों ने कहा, 'आतंक फैलाने के लिए भारत में हथियारों, गोला-बारूद और विस्फोटकों की तस्करी करना पाकिस्तान का एक नया तरीका है। हमने इंटरनेशनल बॉर्डर पर ड्रोन की आवाजाही पर नजर रखने के लिए अपनी सेना को सक्रिय कर दिया है।'

पाकिस्तान के साथ इंटरनेशनल बॉर्डर के 180 किलोमीटर से ज्यादा की निगरानी करने वाले बीएसएफ के जवानों ने किसी भी तरह की ड्रोन घुसपैठ पर निगरानी रखने के लिए अपनी ऑबजर्वेशन पोस्ट को पहले से ज्यादा मजबूत कर दिया है।

उन्होंने कहा कि बीएसएफ इंटरनेशनल बॉर्डर के साथ नदी के इलाकों में भी गश्त कर रही है।  पाकिस्तान से भारत में आतंकियों की घुसपैठ की कोशिश को नाकाम करने के लिए चिनाब नदी में पेट्रोल टीमों को तैनात किया गया हैं।  उन्हें किसी भी ड्रोन के भारतीय हवाई क्षेत्र में घुसपैठ करने पर उसे शूट करने के आदेश दिए गए हैं।

सेना ने भी पाकिस्तान से ड्रोन की घुसपैठ और आतंकवादियों की घुसपैठ को रोकने के लिए कुपवाड़ा, बारामूला, पुंछ और राजौरी जिलों में नियंत्रण रेखा के साथ पहाड़ी घाटियों और नदी क्षेत्रों में पेट्रोलिंग तेज कर दी है। सेना के अधिकारियों ने कहा कि एलओसी पर जवान सतर्कता के उच्चतम स्तर पर है।

सेना के एक शीर्ष कमांडर ने बुधवार को कहा था कि इंडियन आर्मी ऐसे उपकरणों की पहचान करने में सक्षम हैं और पाकिस्तान से भारतीय क्षेत्र में आने वाले किसी भी सैन्य ड्रोन को 'गोली मार दी जाएगी'।

बता दें कि इससे पहले पंजाब पुलिस ने रविवार को दावा किया था कि उसने खालिस्तान जिंदाबाद फोर्स (के जेड एफ) के एक आतंकवादी मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया है। इसे पाकिस्तान और जर्मनी स्थित एक समूह से समर्थन प्राप्त है।

पुलिस ने बताया था कि यह आतंकवादी समूह पंजाब और जम्मू कश्मीर जैसे सीमावर्ती राज्यों में सिलसिलेवार हमले करने का षड्यंत्र रच रहा था। जांच का ब्योरा देने वाले पुलिस अधिकारी ने बताया था कि इन हथियारों को गिराने का मकसद जम्मू कश्मीर में दहशत पैदा करना था।

खबरें और भी हैं...