दैनिक भास्कर हिंदी: केजरीवाल का तंज, दिल्ली में भाजपा और कांग्रेस का गुप्त गठबंधन

March 5th, 2019

हाईलाइट

  • लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के गठबंधन न करने से खफा केजरीवाल
  • केजरीवाल ने किया ट्वीट, पूरा देश मोदी और शाह की जोड़ी को हराना चाहता है
  • कांग्रेस का एक धड़ नहीं चाहता आम आदमी पार्टी और कांग्रेस का गठबंधन

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। कांग्रेस के अकेले चुनाव लड़ने के फैसले पर आम आदमी पार्टी के प्रमुख और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने निशाना साधा है। केजरीवाल ने कहा कि कांग्रेस और भाजपा में गुप्त रूप से समझौता हो गया है और आम आदमी पार्टी दोनों राजनैतिक दलों से लड़ने के लिए तैयार है।

केजरीवाल ने ट्वीट किया कि पूरा देश इस समय मोदी और शाह की जोड़ी की हार देखना चाहता है, लेकिन भाजपा विरोधी वोटों को बांटकर कांग्रेस उनकी मदद करना चाह रही है। केजरीवाल ने कहा कि भाजपा और कांग्रेस का एक गुप्त समझौता है। 

बता दें कि कांग्रेस ने दिल्ली की 7 लोकसभा सीटों पर अकेले  चुनाव लड़ने का फैसला किया है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से बैठक के बाद मंगलवार को दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष शीला दीक्षित ने कहा कि आम आदमी पार्टी से किसी भी तरह का गठबंधन नहीं किया जाएगा।

दरअसल, आप से गठबंधन को लेकर कांग्रेस में दो-राय थी। शीर्ष नेतृत्व आप से गठबंधन करने के पक्ष में था तो वहीं पार्टी का एक धड़ा गठबंधन के विरोध में था। आप आदमी पार्टी की ओर से ऐसे कयास लगाए जा रहे थे कि सत्ता परिवर्तन के लिए लोकसभा चुनाव 2019 में आम आदमी पार्टी और कांग्रेस का गठबंधन हो सकता है।

जानकारी के अनुसार आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के बीच 3-3 सीटों पर चुनाव लड़ने को लेकर बात बनी थी। एक सीट अन्य के लिए छोड़ने का फैसला किया था। बता दें कि दिल्ली में लोकसभा की सात सीटें हैं। साल 2014 के लोकसभा चुनाव में सातों सीटों पर बीजेपी ने जीत हासिल की थी।