दैनिक भास्कर हिंदी: LG के घर पर रात में भी जारी रहा केजरीवाल का धरना

June 12th, 2018

हाईलाइट

  • दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल अपनी मांगों को लेकर एलजी के दफ्तर में धरने पर बैठे।
  • दिल्ली में हड़ताल पर गए आईएएस अधिकारियों को काम पर लौटने का निर्देश दिए जाने की मांग।
  • राशन की डोर स्टेप डिलीवरी योजना को मंजूरी देने की मांग

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने उप राज्यपाल अनिल बैजल के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। अपनी तीन मांगों को मनवाने के लिए सोमवार की शाम को अरविंद केजरीवाल, डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया, सत्येंद्र जैन और गोपाल राय LG के घर में वेटिंग रूम में धरने पर बैठे। बड़ी बात ये है कि सीएम अपने मंत्रियों के साथ पूरी रात धरने पर बैठे रहे। एलजी के वेटिंग में सोफे पर उन्होंने रात गुजारी। अभी भी उनका धरना जारी है।

 

 

 

 

दिल्ली सरकार की सलाहकार आतिशी मर्लेना भी धरने में मौजूद रहीं। रात में करीब 11 बजे एलजी आवास के बाहर सड़क पर बैठकर खाना खाते हुए उनकी फोटो ट्विटर पर शेयर की गई है।

 

 

दिल्ली सरकार के दूसरे मंत्री और विधायक भी अपने समर्थकों और पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ एलजी हाउस के बाहर धरने पर हैं। इनकी मांग है कि एलजी आईएएस एसोसिएशन की हड़ताल खत्म करने का आदेश जारी किया जाए।

 

 

सीएम केजरीवाल अपनी मांगों को लेकर सोमवार शाम करीब 05.30 बजे धरने पर बैठे थे। केजरीवाल के साथ डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया, सत्येंद्र जैन और गोपाल राय भी धरने पर हैं। केजरीवाल ने आरोप लगाया है कि उपराज्यपाल ने किसी भी बात को मानने से इनकार कर दिया है। उसके विरोध में वह धरने पर बैठे हैं। आप नेता नागेंद्र शर्मा ने देर रात एलजी आवास से ट्विटर पर फोटो भी शेयर की थी। 

 



तीन मांगों को लेकर LG से मिलने पहुंचे

अरविंद केजरीवाल की तीन मांगे है। पहली दिल्ली में हड़ताल पर गए IAS अधिकारियों को काम पर लौटने का निर्देश दिया जाए। दूसरी, काम रोकने वाले IAS अधिकारियों के खिलाफ सख्त एक्शन लें और तीसरी, राशन की डोर स्टेप डिलीवरी की योजना को मंजूरी मिले। इन तीनों मांगों को लेकर सोमवार शाम केजरीवाल उप राज्यपाल अनिल बैजल से मिलने उनके दफ्तर पहुंचे थे। केजरीवाल का कहना है कि एलजी ने उनकी तीनों ही मांगों को मानने से इनकार कर दिया। उन्होंने कहा कि जब तक उपराज्यपाल मांगें नहीं मानेंगे, वह यहां से नहीं जाएंगे।
 

 

केजरीवाल के सवाल

केजरीवाल ने धरने पर बैठने के बाद कई ट्वीट किए। इस ट्वीट में केजरीवाल ने सवाल किया कि क्या घर घर राशन डिलीवरी की योजना लागू नही होना चाहिए? क्या यह लोगों की मदद नहीं करेगा? क्या यह भ्रष्टाचार को दूर नहीं करेगा? हम पिछले कई महीनों से एलजी से आग्रह कर रहे हैं लेकिन एलजी ने इनकार कर दिया। वहीं केजरीवाल ने कहा, आज अगर दिल्ली पूर्ण राज्य होता तो IAS अफ़सरों की हिम्मत नहीं होती हड़ताल करने की। और घर घर राशन की व्यवस्था कब की लागू हो चुकी होती।

 

 

 

सर हम आपके वेटिंग रूम में इंतज़ार में बैठे हैं

वहीं डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ट्वीट कर कहा, यह भी दुर्भाग्यपूर्ण है सर कि दिल्ली के गरीब का राशन आपके लिए 'गैरज़रूरी मुद्दा' है। गरीब आदमी से पूछ कर देखिए कि राशन चोरी रुकना और घर तक राशन पहुंचना उसके लिए कितना बड़ा मुद्दा है। सर हम आपके वेटिंग रूम में इंतज़ार में बैठे हैं। हमे उम्मीद है कि आपको यह कभी तो ज़रूरी लगेगा।

 

 

 

LG साहेब दिल्ली वालों को परेशान करना बंद कीजिए

गोपाल राय ने ट्वीट कर कहा, चार महीने से चल रही IAS अधिकारियों की गैरकानूनी हड़ताल खत्म कराने, काम रोकने वाले अधिकारियों के खिलाफ एक्शन लेने और दिल्ली की जनता के हितों में लिये गये निर्णय को पास करवाने के लिए LG सेक्रेट्रिएट में एलजी के इंतज़ार में। LG साहेब दिल्ली वालों को परेशान करना बंद कीजिए।