दैनिक भास्कर हिंदी: भीमा कोरेगांव हिंसा: जिग्नेश, खालिद पर मामला दर्ज, मुंबई में 300 लोग हिरासत में 

January 4th, 2018

डिजिटल डेस्क, नागपुर। भड़काऊ भाषण करने के चलते गुजरात के निर्दलीय विधायक जिग्नेश मेवाणी और उमर खालिद के खिलाफ पुणे के विश्रामबाग थाने में मामला दर्ज किया गया है। 31 दिसंबर को शनिवार वाड़ा मैदान में मेवाणी और खालिद ने अपने भाषण में कहा था कि नई पेशवाई खत्म करना ही कोरेगांव भीमा में 200 साल पहले हुए युध्द के शहीदों को असली श्रध्दांजलि होगी। इसके अलावा दोनों ने भाषण में कई भड़काऊ बयान किए। उनके भाषण से ही प्रेरित होकर 1 जनवरी को कोरेगांव भीमा का महौल बिगड़ा। ये आरोप कर्वेनगर निवासी अक्षय गौतमराव बिक्कड़ ने लगाए हैं। उन्होंने इन दोनों के विरोध में शिकायत दी। जिसे लेकर मामला दर्ज किया गया है।

मुंबई में 16 एफआईआर दर्ज, 300 से ज्यादा हिरासत में 
उधर मुंबई में दलित आंदोलन के दौरान हुए हिंसक प्रदर्शन और तोड़फोड़ के मामले में पुलिस ने कुल 16 एफआईआर दर्ज करते हुए 300 से ज्यादा लोगों को हिरासत में लिया है। वहीं गुरूवार ठाणे में ट्रेन रोकने की कोशिश की गई लेकिन पुलिस ने पांच लोगों को हिरासत में लेकर जल्द ही ट्रेनों की आवाजाही शुरू कर दी।भीमा कोरेगांव मामले में भिडे गुरूजी और मिलिंद एकबोटे की गिरफ्तारी की मांग करते हुए दलित यूथ पैंथर के कार्यकर्ताओं ने गुरुवार को ठाणे स्टेशन प्लेटफार्म क्रमांक चार पर मुंबई की ओर जा रही लोकल ट्रेन  की पटरियों पर बैठ गए। इससे कुछ देर के लिए लोकल ट्रेन रोकनी पड़ी लेकिन पुलिस ने पांच लोगों को हिरासत में ले लिया। जिसके बाद स्थिति सामान्य हो गई।

वहीं मुंबई पुलिस ने मंगलवार और बुधवार की बंद के दौरान हिंसा और तोड़फोड़ करने वाले उपद्रवियों के खिलाफ विभिन्न पुलिस स्टेशनों में एफआईआर दर्ज कर आरोपियों की पहचान शुरू कर दी है। मुख्यमंत्री पहले ही चेतावनी दे चुके हैं कि तोड़फोड़ और हिंसक वारदातों में शामिल लोगों की पहचान के बाद उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। बुधवार को हिंसक प्रदर्शन के दौरान भीड़ पर काबू पाने की कोशिश कर रहे 30 पुलिसकर्मी जख्मी हुए हैं। जिन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। डीसीपी सचिन पाटील ने बताया है कि मुंबई पुलिस ने अब तक कुल 16 एफआईआर दर्ज की है जबकि 300 से ज्यादा लोगों को हिरासत में लेकर छानबीन की जा रही है।

नागपुर के अलग अलग थानों में 1372 मामले दर्

उपराजधानी नागपुर में प्रदर्शनकारियों के खिलाफ अलग अलग थानों में 1372 मामले दर्ज किए गए। प्रदर्शनकारियों ने दुकानों में तोड़फोड़ की थी। इंदौरा चौंक पर सैंकड़ों की तादाद में प्रदर्शनकारी इकठ्ठा हुए थे। जहां उन्होंने कोरेगांव भीमा विवाद को विरोध में जमकर नारे लगाए थे। बुधवार को लोगों ने सराफा बाजार, कपड़ा बाजार, गांधी बाघ सहित कई इलाके बंद कराए थे। जरीपटका, इंदौरा, गोलीबार चौंक और 10 नंबर पुलिया इलाके की दवा दुकानों में तोड़फोड़ की थी। साथ ही इन इलाकों में जमकर पथराव किया गया। पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया था।