comScore

बिहार विधानसभा चुनाव: 243 सीटों के 1.06 लाख केंद्रों पर 7.29 करोड़ लोग डालेंगे वोट

September 25th, 2020 19:30 IST
 बिहार विधानसभा चुनाव: 243 सीटों के 1.06 लाख केंद्रों पर 7.29 करोड़ लोग डालेंगे वोट

हाईलाइट

  • बिहार विधानसभा चुनाव: 243 सीटों के 1.06 लाख केंद्रों पर 7.29 करोड़ लोग डालेंगे वोट

नई दिल्ली, 25 सितंबर(आईएएनएस)। बिहार में एक अक्टूबर से विधानसभा चुनाव प्रक्रिया शुरू होकर 10 नवंबर को मतगणना तक चलेगी। बिहार चुनाव के दौरान कोरोना के खतरे से बचाव के लिए आयोग ने कई खास प्रबंध किए हैं। मसलन, 2015 के मुकाबले 62 प्रतिशत से ज्यादा नए मतदान केंद्रों की व्यवस्था हुई है। जिससे इस बार एक मतदान केंद्र पर सिर्फ एक हजार लोग ही वोट देंगे। पहले 15 सौ लोग वोट देते थे। मतदान केंद्र के गेट पर हर व्यक्ति को थर्मल स्कैनर से गुजरना होगा। हाथ सैनिटाइज करने के बाद ही वोटर वोट दे सकेंगे।

मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने शुक्रवार को प्रेस कांफ्रेंस कर चुनाव की तारीखों का ऐलान किया। बिहार में कुल 243 विधानसभा सीटों में 38 अनुसूचित वर्ग के लिए रिजर्व हैं तो दो सीटें अनुसूचित जनजाति(एसटी) के लिए आरक्षित हैं। बिहार में 23 सितंबर 2020 तक आंकड़ों के मुताबिक कुल 7,29,27,396 मतदाता हैं। जिसमें से 1,60,410 सर्विस वोटर्स हैं।

2020 में होने जा रहे विधानसभा चुनाव के लिए आयोग ने कुल 1,06,526 केंद्र बनाए हैं। जबकि 2015 में 65,367 मतदान केंद्रों पर मतदान हुआ था। इस प्रकार कोरोना के कारण 62.96 प्रतिशत मतदान केंद्र बढ़े हैं।

कोरोना की चुनौतियों के कारण ऑनलाइन नामांकन की भी सुविधा दी गई है। आयोग की वेबसाइट पर नामांकन फॉर्म उपलब्ध रहेंगे। ऑनलाइन आवेदन के बाद रिटनिर्ंग अफसर के कार्यालय में प्रिंट आउट जमा करना होगा। उम्मीदवारों को एफिडेविट और सिक्योरिटी मनी भी ऑनलाइन भरने की सुविधा दी गई है। खास बात है कि नामांकन के लिए सिर्फ दो लोग जा सकेंगे। नामांकन के लिए दो वाहनों का ही इस्तेमाल उम्मीदवार कर सकेंगे।

पूरा चुनाव कार्यक्रम

पहले चरण में कुल 71 सीटों के लिए एक अक्टूबर को अधिसूचना जारी होगी। आठ अक्टूबर नामांकन की आखिरी तारीख होगी। नौ अक्टूबर को नामांकन पत्रों की जांच होगी। 12 अक्टूबर को नाम वापसी होगी। वहीं 28 अक्टूबर को मतदान होगा।

दूसरे चरण में 94 सीटों के लिए नौ अक्टूबर को अधिसूचना जारी होगी। 16 अक्टूबर तक नामांकन हो सकेंगे। 17 अक्टूबर को नामांकन पत्रों की जांच होगी और 19 अक्टूबर तक नामवापसी। तीन नवंबर को मतदान होगा।

इसी तरह तीसरे चरण में 78 विधानसभा सीटों पर चुनाव होगा। 13 अक्टूबर को अधिसूचना जारी होगी, वहीं 20 अक्टूबर तक नामांकन हो सकेंगे। 21 अक्टूबर को नामांकन पत्रों की जांच और 23 अक्टूबर तक वापसी हो सकेगी। सात नवंबर को मतदान होगा और दस नवंबर को नतीजे आएंगे।

एनएनएम/एएनएम

कमेंट करें
F2M4T
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।