दैनिक भास्कर हिंदी: BJP MLA की धमकी 'गौ-तस्करी और गौकशी करोगे तो यूं ही मरोगे'

December 25th, 2017

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। अपने विवादित बयानों को लेकर सुर्खियों में रहने वाले भारतीय जनता पार्टी के विधायक ज्ञानदेव आहूजा का एक और बयान सामने आया है। इस बार उन्होंने गौ तस्करों को लेकर बयान दिया है। अपने बयान में उन्होंने गौ तस्करों को मारने का समर्थन किया है। उन्होंने कहा कि 'मेरा तो सीधा-सीधा कहना है कि गौ-तस्करी और गौकशी करोगे तो यूं ही मरोगे।' 

 

Image result for gyan dev ahuja

 

3 राउंड किए फायर

दरअसल अलवर के खिलोरा ग्राम पंचायत के यादव नगर गांव में गाय ले जा रहे गो तस्करों से कथित गोरकक्षों ने जमकर मारपीट की, जिसकी वजह से गोतस्कर जाकिर खान की तबीयत खराब होने पर उसको अस्पताल में भर्ती कराया गया। बताया जा रहा है कि पहले उसे रामगढ़ के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया लेकिन हालत गंभीर होता देख उसे अलवर रेफर किया गया। रामगढ़ पुलिस स्टेशन के एसएचओ अजीत सिंह ने बताया, “गो-तस्करों ने 3 राउंड फायर किए लेकिन पुलिस गांववालों की मदद से उन्हें पकड़ने में कामयाब रही।” 

 

गौतस्कर करते है फायरिंग

राजस्‍थान में अलवर जिले के रामगढ़ से बीजेपी विधायक से जब इस बारे में मीडिया ने बात की तो उन्होंने कहा कि गौतस्कर राजस्थान के कई गांव के कच्चे रास्ते से होकर निकलते है। गायों को देखकर जब उन्हें रोका जाता है तो फिर वह पथराव शुरू कर देते है। यहां तक कि वह फायरिंग भी करते है। वहीं उन्होंने बताया कि मेवात के अलवर और भरतपुर जिले में हरियाणा के गो तस्कर राजस्थान के मारवाड़ और मेवाड़ से लेकर दूर-दूर से गायों को तस्करी कर लाते हैं।

 

इससे पहले नवंबर की शुरुआत में अलवर जिले में बीते कथित गोरक्षकों ने एक किसान उमर खान की पीट-पीटकर हत्या कर दी थी। वहीं अप्रैल में अलवर जिले में ही गौरक्षकों ने गाय तस्करी के संदेह पर पहलू खान नामक एक शख्स की पीट-पीटकर हत्या कर दी थी।

Image result for gyan dev ahuja

 

JNU को लेकर विवादित बयान

ज्ञानदेव आहूजा जेएनयू को लेकर दिए गए अपने कंडोम वाले विवादित बयान से सुर्खियों में आए थे। आहूजा ने 22 फरवरी को अलवर में एक रैली में कहा था, 'जेएनयू में रोजाना शराब की 4000 बोतलें, सिगरेट के 10 हजार फिल्टर, बीड़ी के 4000 टुकड़े, हड्डियों के छोटे-बड़े 50 हजार टुकड़े, चिप्स के 2000 रैपर्स और 3000 इस्तेमाल किए गए कंडोम मिलते हैं।' उनके इस बयान की खूब आलोचना हुई थी।