दैनिक भास्कर हिंदी: उत्तर-पश्चिम दिल्ली सीट से कटा उदित राज का टिकट, हंसराज हंस होंगे बीजेपी उम्मीदवार

April 23rd, 2019

हाईलाइट

  • उत्तर-पश्चिम दिल्ली संसदीय सीट से कटा उदित राज का टिकट।
  • बीजेपी ने पंजाबी सिंगर हंसराज हंस को बनाया उम्मीदवार।
  • उत्तर-पश्चिम दिल्ली से मौजूदा सांसद हैं उदित राज।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के बीच बीजेपी ने सांसद उदित राज का टिकट काट कर पंजाबी सिंगर हंसराज हंस को उत्तर-पश्चिम दिल्ली संसदीय सीट से पार्टी का उम्मीदवार बनाया है। हंसराज हंस बीते कई सालों से बीजेपी से जुड़े हुए हैं। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में आज नामांकन की आखिरी तारीख है, वह थोड़ी देर में नामांकन भी दाखिल करेंगे। बता दें कि हंसराज कई दलों के साथ रह चुके हैं। 2009 में उन्होंने अकाली दल से राजनीतिक पारी का आगाज किया था। बाद में वह कांग्रेस में शामिल हो गए। करीब दो साल तक कांग्रेस में रहने के बाद उन्होंने दिसंबर 2016 में बीजेपी का दामन थाम लिया था।

दरअसल बीजेपी ने इससे पहले दिल्ली की 6 अन्य सीटों पर उम्मीदवार घोषित कर दिए थे और सिर्फ इसी सीट पर कैंडिडेट का ऐलान बाकी था। हालांकि टिकट कटने के संकेत मिलते ही उदित राज ने पार्टी छोड़ने का ऐलान भी किया था। उन्होंने पार्टी को खुली चेतावनी दी थी, अगर टिकट नहीं मिला तो वो पार्टी से इस्तीफा दे देंगे। दरअसल लोकसभा चुनाव में उत्तर पश्चिम सीट से उदित राज के टिकट पर पहसे से सस्पेंस था। उदित राज ने दिल्ली में लोकसभा प्रत्याशियों की पहली सूची में अपना नाम नहीं होने को लेकर नाराजगी जाहिर की थी।

मंगलवार को बीजेपी से टिकट के इंतजार में बैठे उदित राज ने कहा था, वह आज नामांकन दाखिल करेंगे और पार्टी ने टिकट नहीं दिया तो बीजेपी को अलविदा कह देंगे। उदित राज ने ट्वीट कर बीजेपी छोड़ने की धमकी दी थी। उन्होंने ट्वीट कर कहा था- ' मैं टिकट का इंतजार कर रहा हूं, अगर मुझे टिकट नहीं दिया गया तो मैं पार्टी को गुड बाय भी कह दूंगा।'

हालांकि, इसके कुछ देर बाद उन्होंने एक और ट्वीट में कहा- मुझे उम्मीद है कि मैं अपने लोकसभा क्षेत्र से ही नामांकन करूंगा, मैंने कड़ी मेहनत की है। मुझे उम्मीद है कि मैं खुद बीजेपी छोड़कर नहीं जाऊंगा। वहीं टिकट कटते ही उदित राज चौकीदार से डॉक्टर बन गए हैं। दिल्ली की उत्तर पश्चिम सीट से सूफी सिंगर हंस राज हंस के नाम का ऐलान होते ही उदित राज ने अपने ट्विटर हैंडल में नाम के आगे से चौकीदार हटा लिया है। 

खबरें और भी हैं...