दैनिक भास्कर हिंदी: अमित शाह बोले: बीजेपी न आरक्षण खत्म करेगी और न ऐसा करने देगी

April 4th, 2018

डिजिटल डेस्क, भुवनेश्वर। बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने बुधवार को कहा कि केंद्र सरकार शिक्षा और नौकरियों में अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति समुदायों के लिए आरक्षण की नीति खत्म नहीं करेगी और न ही किसी को ऐसा करने देगी। शाह ने कालाहांडी जिले में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा, आरक्षण नीति को कोई भी बदलने की हिम्मत नहीं कर सकता जैसा कि संविधान में बी आर आंबेडकर ने तय किया है।’ बीजेपी अध्यक्ष ने एससी-एसटी ऐक्ट पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ दलित संगठनों के भारत बंद के दौरान हुई हिंसा में 10 लोगों के मारे जाने का जिम्मेदार कांग्रेस और विपक्षी दलों को ठहराया।

उन्होंने कहा, 'बंद को किसने बुलाया जब प्रधानमंत्री ने लोगों को भरोसा दिलाया था कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ सरकार पुनर्विचार याचिका दायर करेगी।' शाह ने कहा, 'कांग्रेस और दूसरे विपक्षी दल इन दस लोगों की मौत के लिए जिम्मेदार हैं।'

अमित शाह ने कहा, 'मैं इस जनसभा में इतने लोगों की उपस्थिति में यह स्पष्ट करना चाहूंगा कि बीजेपी आरक्षण वापस नहीं लेने जा रही और न ही वह किसी को ऐसा करने की इजाजत देगी। भारत के संविधान में हमारा पूर्ण विश्वास है। बी आर आंबेडकर द्वारा संविधान में तय आरक्षण नीति में जरा सा भी बदलाव नहीं होगा। कोई इसे बदलने की हिम्मत नहीं कर सकता। बीजेपी किसी को आरक्षण नीति में बदलाव की इजाजत भी नहीं देगी।'

सोमवार को 'भारत बंद' से एमपी में 7, उत्तर प्रदेश में 2 और राजस्थान में एक व्यक्ति की मौत हो गई, जबकि राजस्थान के बाडमेर में हिंसक झड़प में 25 लोग घायल हो गए। बिहार में भारत बंद के दौरान हिंसा भड़काने के आरोप में 3,619 लोगों को गिरफ्तार किया गया।

भारत बंद को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर मोदी सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने कहा 'दलितों को भारतीय समाज के सबसे निचले पायदान पर रखना RSS-BJP के DNA में है। जो इस सोच को चुनौती देता है उसे वे हिंसा से दबाते हैं। हजारों दलित भाई-बहन आज सड़कों पर उतरकर मोदी सरकार से अपने अधिकारों की रक्षा की मांग कर रहे हैं।'