दैनिक भास्कर हिंदी: बलात्कारी आसाराम के साथ जेल काटेंगे सलमान शिकारी

April 6th, 2018

डिजिटल डेस्क, जोधपुर। बॉलीवुड एक्टर सलमान खान को गुरुवार को काला हिरण शिकार केस में जोधपुर कोर्ट ने 5 साल की सजा सुनाई है। साथ ही उनपर 10 हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया गया है। वहीं इस मामले में बाकी आरोपी सैफ अली खान, तब्बू, सोनाली बेंद्रे और नीलम को बरी कर दिया है। सलमान को सजा मिलने के बाद गुरुवार को ही उन्हें जोधपुर सेंट्रल भेज दिया गया है। माना जा रहा है कि सलमान को कम से कम आज की रात तो जोधपुर जेल में ही बितानी पड़ेगी। ये वही जेल है, जहां बलात्कार के आरोप में आसाराम बापू पिछले करीब 4 सालों से बंद है। 

गुरुवार को जमानत मुश्किल

सलमान खान को 5 साल की सजा सुनाए जाने के बाद उन्हें अब सीधे जेल भेज दिया गया है। अगर सलमान को 3 साल से कम की सजा होती तो उन्हें जोधपुर कोर्ट से ही जमानत मिल जाती, लेकिन 5 साल की सजा मिलने के बाद उन्हें अब सेशन कोर्ट में जमानत के लिए अपील करनी होगी। हालांकि, गुरुवार को ही सलमान को जमानत मिले, इस बात की उम्मीद काफी कम है। इसका कारण है कि आधे से ज्यादा दिन बीत चुका है और कुछ ही देर में सेशन कोर्ट भी बंद हो जाएगी। इसके साथ ही अगर सलमान के वकील सेशन कोर्ट में जमानत की अपील भी करते हैं, तो उस पर आज ही सुनवाई होने की भी काफी कम उम्मीद है। लिहाजा माना यही जा रहा है कि सलमान को कम से कम गुरुवार की रात तो जेल में ही बितानी पड़ेगी।

सलमान खान पर क्या हैं आरोप?

दरअसल, साल 1998 में जोधपुर में 'हम साथ-साथ हैं' फिल्म की शूटिंग के दौरान काले हिरण का शिकार करने के आरोप लगे थे। इसी मामले में सलमान को पहले भी 5 दिनों तक जेल में रहना पड़ा था। फॉरेस्ट ऑफिसर ललित बोरा ने इस मामले में जोधपुर के लूणी पुलिस स्टेशन में सलमान खान के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी। पुलिस में दर्ज शिकायत के मुताबिक, सलमान खान ने 1-2 अक्टूबर 1998 की रात कांकाणी गांव में दो काले हिरणों का शिकार किया था। इस मामले में सैफ अली खान, तब्बू, सोनाली बेंद्रे और नीलम को भी आरोपी बनाया गया था, लेकिन उन्हें इस मामले में जोधपुर कोर्ट ने बरी कर दिया है।

 

Image result for asaram bapu



जोधपुर जेल में ही बंद हैं आसाराम बापू

सलमान खान को जोधपुर सेंट्रल जेल भेजा गया है और ये वही जेल है जहां बलात्कार के आरोप में आसाराम बापू पिछले 4 सालों से बंद है। आसाराम बापू और उनके बेटे नारायण साईं पर कई लड़कियों ने बलात्कार का आरोप लगाया था। आसाराम पर जोधपुर के आश्रम में एक नाबालिग लड़की के साथ दुष्कर्म करने के आरोप में 31 अगस्त 2013 को इंदौर के आश्रम से गिरफ्तार किया गया था और तभी से आसाराम जेल में है। आसाराम सुप्रीम कोर्ट में भी जमानत याचिका दाखिल कर चुके हैं, लेकिन वहां भी उनकी याचिका को खारिज कर दिया गया था। 

आसाराम पर क्या था आरोप?

दरअसल, सूरत की रहने वाली दो बहनों ने अलग-अलग शिकायतों में आसाराम और उनके बेट नारायण साईं पर बलात्कार करने और गैरकानूनी तरीके से बंधक बनाने समेत कई आरोप लगाए थे। बड़ी बहन ने आरोप लगाया था कि जब वो अहमदाबाद में मौजूद आसाराम के आश्रम में रह रही थी, तो 2001 से 2006 के दौरान आसाराम ने कई बार उसका यौन उत्पीड़न किया था। इसके बाद एक नाबालिग लड़की ने भी आसाराम पर जोधपुर के एक आश्रम में यौन उत्पीड़न करने का आरोप लगाया था। नाबालिग लड़की की शिकायत पर आसाराम को गिरफ्तार किया गया था।